आधे से अधिक स्टूडेंट अभी भी राशि से वंचित

आधे से अधिक स्टूडेंट अभी भी राशि से वंचित

भोपाल। सरकारी स्कूलों में पहली से आठवीं तक के स्टूडेंट्स को इस साल यूनिफॉर्म के बजाय उसकी राशि दी जा रही है, लेकिन यह राशि भी तब बांटना शुरू की गई है, जबकि मौजूदा सत्र को तीन महीने से ज्यादा बीत चुके हैं, बावजूद हालत यह है कि अभी भी आधे से अधिक स्टूडेंट्स को राशि नहीं मिली है। इसकी मुख्य वजह है, स्कूलों में इस साल स्टूडेंट्स की दर्ज संख्या का अभी तक अपडेट नहीं होना। स्कूल शिक्षा विभाग आठवीं तक के स्टूडेंट्स को दो जोड़ी यूनिफॉर्म के लिए 600 रुपए की राशि प्रदान करने की योजना है। इसके तहत शासन ने 15 सितंबर 2019 तक पालकों के खाते में राशि चेक के माध्यम से बैंक में जमा करने तथा 16 सितंबर से नई यूनिफॉर्म पहनकर उपस्थित होने के निर्देश दिए गए थे। मॉनीटरिंग की जिम्मेदारी शाला प्रबंधन समिति को सौंपी गई थी। लेकिन, नए सत्र के तीन माह बीत जाने के बाद भी सभी विद्याथियोें के खातों में राशि नहीं पहुंची। राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा पिछले महीने स्कूलों को राशि जारी की गई है। स्कूलों में कई बच्चों के खाते अपडेट नहीं होने कारण राशि उनके खाते में नहीं पहुंच पाई। अधिकांश पैरेंट्स खरीद चुके हैं यूनिफार्म: स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों की लेटलतीफी के चलते अधिकतर अभिभावक मशक्कत के बाद बच्चों के लिए यूनीफार्म खरीद चुके हैं। ज्ञातव्य हो कि सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स के ज्यादातर पैरेंट्स दैनिक मेहनत मजदूरी करने वाले हैं। इसी को मद्देनजर रखकर यूनिफार्म देने की योजना शुरू की गई थी।

रिकॉर्ड की गड़बड़ी के कारण सही नहीं पहुंची राशि

स्कूल शिक्षा विभाग तीन महीने बाद भी स्कूलों में दर्ज स्टूडेंट्स की संख्या अपडेट नहीं कर पाया है। ऐसे में पिछले सत्र के रिकार्ड के आधार पर स्कूलों को राशि आवंटित कर दी है। नतीजा किसी स्कूल में छात्रों की संख्या से ज्यादा राशि पहुंची तो किसी में आधे छात्रों को भी राशि नहीं मिली। अब स्कूलों में आपस में समायोजन कराया जा रहा है।