होशंगाबाद में नर्मदा खतरे के निशान से 2.5 फीट ऊपर, कॉलोनियों में घुसा पानी

होशंगाबाद में नर्मदा खतरे के निशान से 2.5 फीट ऊपर, कॉलोनियों में घुसा पानी

भोपाल। प्रदेश में पिछले तीन दिनों से जारी बारिश आफत खड़ी कर चुकी है। होशंगाबाद में मंगलवार शाम नर्मदा का जलस्तर खतरे के निशान से दो फीट ऊपर पहुंच गया। शाम को सायरन बजाकर इलाकों को खाली कराया गया। विदिशा में बारिश से 15 बस्तियों में 5 से 6 फीट पानी भरा है। रायसेन जिले का भी नदियों और नालों के उफान पर होने से विदिशा और भोपाल से सड़क संपर्क टूटा हुआ है। मौसम का पूर्वानुमान जारी करने वाली संस्था स्काइमेट के मुताबिक 16 सितंबर तक ऐसी ही बारिश चलेगी।

अब मालवा अंचल में भारी बारिश

* इंदौर-इच्छापुर हाईवे स्थित मोरटक्का पुल पर मंगलवार को भी ट्रैफिक बंद रहा।

* इंदिरा सागर बांध के 12 गेट से, ओंकारेश्वर बांध के 18 गेट से पानी छोड़ा जा रहा है।

* खंडवा स्थित तीन पुलिया में रेलवे के रिटायर्ड कर्मी बह गए।

* महेश्वर में नर्मदा नदी का जलस्तर खतरे के निशान 147 मीटर से एक मीटर कम है।

* नागदा में बिजली गिरने से दो चचेरे भाइयों की मौत हो गई।

* छोटी कालीसिंध नदी पार करते समय तेज बहाव में बहने से एक युवक की मौत हो गई।

* गुना के बमौरी में भौंरा नदी के तेज उफान में एक ट्राला नदी में जा गिरा।

* बेगमगंज के कऊला नाले के अस्थाई पुल पर करीब 8 फीट पानी, भोपाल से सड़क संपर्क टूटा, पिछले तीन दिनों से बारना पुल जलमग्न।