न अब तक तैयार हो पाई 16 टंकियां और न ही कंप्लीट हो सकी डिस्ट्रीब्यूशन लाइन

न अब तक तैयार हो पाई 16 टंकियां और न ही कंप्लीट हो सकी डिस्ट्रीब्यूशन लाइन

जबलपुर। नगर निगम सीमा में शामिल 55 गांव जिन्हें नए 9 वार्डों में समाहित किया गया है,को ननि के लाख दावों के बावजूद इस साल रमनगरा से पानी नहीं मिल पाएगा। इसके पीछे का कारण यह है कि न तो 16 टंकियों का निर्माण कार्य पूरा हुआ है और न ही रमनगरा से डाली जाने वाली नई राईजिंग मेन डल पाई है। यही हाल डिस्ट्रीब्यूशन लाइनों का है। गौरतलब है कि नगर निगम को अमृत योजना के तहत 150 क रोड़ रुपए की राशि केन्द्र सरकार ने आवंटित की थी,जिसमें नगर निगम ने निर्णय लिया था कि नए शामिल वार्डों में सुदृढ़ पेयजल वितरण व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए नए वार्डों में स्थल चिन्हित कर टंकियां बनाने का काम गत वर्ष चालू किया गया था। पैसा पास में होने के बावजूद ठेकेदारों की लेटलतीफी और कई कारणों से काम पूरा नहीं हो पाया है। हालाकि काम पूर्णता पर है मगर किसी भी हालत में इस साल पानी देना संभव नहीं है। नए वार्ड पनागर,पश्चिम,केंट,बरगी विधानसभा के अंतर्गत आते हैं।

यहां बन रही टंकियां

पनागर विधानसभा के तहत खैरी, करमेता, अमखेरा, सुहागी, बिलपुरा, गधेरी,पश्चिम विस के तहत नयागांव व सूपाताल,बरगी विस में कुगवां,केंट विस के तहत मानेगांव, भोंगाद्वार, तिलहरी,पूर्व विस में रवीन्द्र नगर में इन टंकियों का निर्माण किया जा रहा है। अमृत योजना के तहत रमनगरा से 40 एमएलडी पेयजल का वितरण किए जाने व इन 16 टंकियों को भरने के लिए राईजिंग मेन लाइन डाली जा रही है। वहीं मेन लाइन से डिस्ट्रीब्यूशन लाइन का काम भी जारी है। काम की गति बेहद धीमी होने के कारण ऐसी परिस्थितियां बन रही हैं कि नए वार्डों को इस साल पानी नहीं मिल पाएगा।