‘निर्भया’ केस होते रहें, विरोध मना है...

‘निर्भया’ केस होते रहें, विरोध मना है...

नई दिल्ली। हैदराबाद में मदद के बहाने महिला वेटरनरी डॉक्टर के साथ रेप और मर्डर करने के बाद शव जलाने की घटना के विरोध में शनिवार को देशभर में प्रदर्शन हुए। दिल्ली में एक महिला प्रदर्शनकारी अनु दुबे शनिवार को दिल्ली में संसद के बाहर अकेले प्रदर्शन करने पहुंची। अनु ने पोस्टर में लिखा था- मैं अपने भारत में सुरक्षित महसूस क्यों नहीं कर सकती। पुलिस ने उसे प्रदर्शन के लिए जंतर-मंतर जाने के लिए कहा गया लेकिन उसने वहां जाने से मना कर दिया। इसके बाद उसे पार्लियामेंट स्ट्रीट पुलिस थाने ले जाया गया। घटना की जानकारी के बाद दिल्ली महिला आयोग की टीम थाने पहुंची और अनु को रिहा कराया। दिल्ली महिला आयोग ने इस मामले में दिल्ली पुलिस को नोटिस भेजा है। आयोग ने कहा कि हेड कॉन्स्टेबल कुलदीप के साथ-साथ मंजू और एक अन्य पुलिस आॅफिसर ने अनु दुबे के साथ दुर्व्यवहार किया, उससे मार-पीट की और धमकाया। थाने में उसे एक बेड पर फेंक दिया गया और उसके ऊपर तीन महिला पुलिसकर्मी बैठ गर्इं और उसे मारा। आयोग पूछा है कि ने आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई या नहीं, डीसीपी इसकी रिपोर्ट दें।