5 किमी तक के सीसी कैमरों से भी नहीं मिला देविका का कोई सुराग

5 किमी तक के सीसी कैमरों से भी नहीं मिला देविका का कोई सुराग

जबलपुर ।  तिलवारा थाना क्षेत्र के नेहरू नगर के्रेशर बस्ती निवासी मोनू बाल्मीक की 22 माह की बेटी देविका का रविवार को भी कोई पता नहीं चल सका है। देविका को तलाशने के लिए पुलिस ने पांच किलो मीटर तक आसपास के सभी सीसी कैमरों की फुटेज को भी तलाश लिया है लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लग पाया है। गौरतलब है कि तीन दिन पूर्व देविका को सोते समय उसके माता-पिता के बीच से अज्ञात अपहरणकर्ता उठा ले गया। अपहरणकर्ता कौन है, यह पहेली पुलिस के लिए सिरदर्द बनी हुई है। घटना स्थल की जांची गर्इं तमाम परिस्थितियां तथा स्थितियों के मंथन के बाद पुलिस का शक बाल्मीक परिवार से जुड़े हुए लोगों पर ही जाता है। क्योंकि वारदात के दौरान पूरे इत्मीनान से माता-पिता तक पहुंचकर बच्ची को उठाया गया और उसके बाद मच्छरदानी को पुन: व्यवस्थित कर दिया गया। इसके अलावा दीवार की र्इंटो को हटाने के बाद किसी को कोई आहट न मिलना जैसी बातें पड़ताल में जुटी टीम को हैरान कर रही हैं।

परिवार से नहीं हो पा रही पूछताछ

पुलिस की अनेक टीमें संदेहियों से लगातार पूछताछ कर रही है लेकिन परिजनों से पूछताछ नहीं की जा पा रही है। आसपास के लोगों में चर्चा है कि देविका की बुआ और उसकी मां के बीच अनेक बार विवाद होता रहा है। इसके अलावा परिजनों की कई लोगों से रंजिश भी रही है। हालांकि पुलिस कोई भी ऐंगल छोड़ने के लिए तैयार नहीं है।

देविका का सुराग देने वालों पर 10 हजार रुपए का ईनाम घोषित किया गया है। पतासाजी के लिए आसपास के सीसी कैमरों के फुटेज भी तलाशे जा चुके हैं यह सब क्रम थमा नहीं है, लगातार जारी है। -रीना पाण्डे शर्मा, टीआई, तिलवारा थाना।