पीएम मोदी और अमित शाह ने टफ सीटों पर लगाया दम

पीएम मोदी और अमित शाह ने टफ सीटों पर लगाया दम

भोपाल ।  मध्यप्रदेश में आखिरी चरण की सीटों पर शुक्रवार से चुनावी शोरगुल थम गया हैं। भाजपा ने मिशन 26 को पूरा करने के लिए पूरी ताकत झोंक दी। आचार संहिता लागू होने के बाद से नरेंद्र मोदी ने स्वयं को दूसरी बार प्रधानमंत्री बनाने के लिए प्रदेश में 10 जगह चुनावी सभाएं की। इस दौरान उन्होंने स्थानीय उम्मीदवार का एक बार भी नाम नहीं लिया और खुद के नाम पर वोट मांगे। वहीं, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने 9 सीटों पर चुनावी सभाएं और रोड शो कर पूरा जोर लगाया। भाजपा ने मप्र के चुनाव प्रचार के लिए राष्ट्रीय स्तर और प्रादेशिक स्तर के 40- 40 स्टार प्रचारकों को लगाया था। इनमें से प्रधानमंत्री मोदी ने आखिरी दिन शुक्रवार को खरगौन में चुनावी सभा ली। इससे पहले उन्होंने सीधी, जबलपुर, इटारसी, सागर, ग्वालियर, खंडवा, इंदौर, रतलाम में चुनावी सभाएं और रोड शो किए। इसी तरह राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने खजुराहो, टीकमगढ़, मुरैना, राजगढ़, मंदसौर, देवास, रीवा,उज्जैन में चुनावी सभाएं ली और भोपाल में रोड शो किया। इनके अलावा मप्र के लोकसभा चुनाव के प्रभारी स्वतंत्र देव सिंह ने 10, सहप्रभारी सतीष उपाध्याय ने 60, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने 9, नितिन गड़करी ने 8, यूपी के सीएम योगी आदित्य नाथ ने दो, गुजरात के सीएम विजय रुपाणी ने 3, महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडनवीज ने एक, केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने 26, नरेंद्र सिंह तोमर ने 14, प्रदेश प्रभारी डॉ विनय सहस्त्रबुद्धे ने 12, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने 11 और सुषमा स्वराज ने तीन सभाएं ली। इसके अलावा केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2, अभिनेत्री जयाप्रदा और स्मृति ईरानी ने 5-5 चुनावी सभाएं की।

शिवराज सिंह चौहान ने ली 144 सभाएं प्रदेश

स्तर के स्टार प्रचारकों ने भी प्रदेश में कई चुनावी सभाएं ली। इसमें सर्वाधिक 144 चुनावी सभाएं और रोड शो पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के किए। इसके अलावा नरोत्तम मिश्रा के 20, प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह के 6, फग्गन सिंह कुलस्ते 4, गोपाल भार्गव 5 और प्रहलाद पटेल ने दो सभाएं की।