पुलिस ने फिर पकड़ा आईपीएल का सट्टा

पुलिस ने फिर पकड़ा आईपीएल का सट्टा

ग्वालियर ।  कोतवाली थाना पुलिस ने एक बार फिर अब तक का सबसे बड़ा आईपीएल का सट्टा पकड़ा है। मौके से पुलिस को लाखों रुपए का सट्टा कारोबार का हिसाब-किताब सहित लगभग आधा लाख रुपए नगद मिले हैं। उल्लेखनीय है कि कोतवाली थाना पुलिस द्वारा लगातार आईपीएल सट्टा पकड़ा जा रहा है। इसी कड़ी में रविवार को कोतवाली टीआई अजय चानना को मुखबिर के जरिए सूचना मिली कि आईपीएल सट्टे की लाइन चलाने वाला एक बड़ा सटोरिया दौलतगंज स्थित अग्रसेन पार्क के पास मौजूद है, जिसके पास वर्तमान में भी सट्टे का काफी हिसाब-किताब है। यह सूचना मिलते ही चानना ने दल-बल के साथ तुरंत बताए गए स्थान की घेराबंदी की, तो वहां मौजूद एक व्यक्ति पुलिस को देखकर भागने का प्रयास करने लगा, जिसे पुलिसकर्मियों ने मुस्तैदी दिखाते हुए दबोच लिया। पकड़े गए व्यक्ति की तलाशी लेने पर उसके कब्जे से आईपीएल में कोलकाता विरूद्ध चैन्नई के बीच होने वाले के मुकाबले की हार-जीत की सट्टा पर्चियों सहित 32 हजार रुपए नगद बरामद हुए। आरोपी को थाने लाकर पूछताछ करने पर उसने अपना नाम अनिल शर्मा पुत्र सेवाराम शर्मा (26 वर्ष) निवासी त्यागी नगर, मुरार बताया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी से लगभग 20 लाख रुपए के सट्टे का हिसाब-किताब मिला है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 4ए पब्लिक गेंबलिंग एक्ट मप्र 1976 के तहत् प्रकरण दर्ज कर उससे पूछताछ शुरू कर दी है। इस कार्रवाई में कोतवाली टीआई चानना के साथ ही पीएसआई दिव्या तिवारी, प्रधान आरक्षक जितेंद्र जाट, राजवीर सिंह जाट, शैलेंद्र सिंह, आरक्षक जनकसिंह, मक्खन छारी, कपिल कोटिया, जितेंद्र सक्सैना तथा सुरेंद्र कुशवाह की सराहनीय भूमिका रही।

पुलिस पर पड़ा पॉलीटिकल प्रेशर

अनिल के अरेस्ट होते ही पुलिस अफसरों के फोन घनघनाने लगे। कांग्रेस- भाजपा से जुड़े विभिन्न राजनेताओं द्वारा उसे छुड़वाने हेतु पुलिस पर प्रेशर बनाया गया, लेकिन पुलिस ने जब उनके आगे अनिल का चिट्ठा खोला, तो सब पीछे हट गए।

और भी हो सकते हैं खुलासे

पूछताछ में अनिल ने पुलिस को आईपीएल सट्टे से जुड़े कई अन्य लोगों की जानकारी व नंबर आदि दिए हैं, जिन्हें पुलिस द्वारा ट्रेस किया जा रहा है, पुलिस को उम्मीद है कि इनके सहारे वे आगे और भी खुलासे कर सकती है।