छात्र को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस पर घर की ग्रिल काटकर तोड़फोड़ का आरोप

छात्र को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस पर घर की ग्रिल काटकर तोड़फोड़ का आरोप

भोपाल।  अड़ीबाजी के मामले में इंजीनियरिंग छात्र को गिरμतार करने पहुंची अयोध्या नगर पुलिस पर मकान की ग्रिल काटने और घर के अंदर तोड़फोड़ करने के आरोप लगे हैं। इतना ही नहीं छात्र के पिता ने लायसेंसी बंदूक के कारतूस और जेवरात भी ले जाने का आरोप पुलिस वालों पर लगाया है। इसकी शिकायत पुलिस के आला-अफसरों के साथ पीएमओ को की गई है। हालांकि, टीआई ने इन आरोपों को गलत बताया है। जानकारी के अनुसार, सागर एवेन्यू अयोध्या नगर निवासी शिवम चौहान इंजीनियरिंग छात्र है। गत सात अगस्त को एक आटो चालक ने शिवम व उसके दोस्त रितेश पर मारपीट कर अड़ीबाड़ी करने का आरोप लगाया था। पुलिस ने इस मामले में दोनों के खिलाफ अपराध दर्ज किया था। इसी मामले को लेकर अगले दिन दोपहर के समय पुलिस टीम शिवम को गिरμतार करने उसके घर पहुंची। इस दौरान शिवम घर पर अकेला था, जबकि उसके पिता प्रयाग सिंह चौहान और मां काम से भिंड गए हुए थे। पिता प्रयाग सिंह स्वास्थ्य विभाग के रिटायर्ड अफसर हैं। उनका आरोप है कि घबराहट में शिवम ने दरवाजा नहीं खोला, तो पुलिसकर्मियों ने उनके मकान में तोड़फोड़ कर खिड़की की ग्रिल काट दी और अंदर घुसकर बेटे को गिरμतार कर ले गए। इस दौरान घर के अंदर रखे सामान को भी तहस- नहस कर दिया। बाद अलमारी चेक की, तो उसमें रखे पत्नी के जेवरात और लायसेंसी बंदूक के कारतूस भी गायब थे। उन्होंने इस मामले में की शिकायत पुलिस के आला-अफसरों समेत गृहमंत्री और पीएमओ तक से कार्रवाई की मांग की है।

थाना प्रभारी ने आरोपों को बताया बेबुनियाद

अयोध्या नगर थाना प्रभारी महेंद्र सिंह कुल्हारा ने तोड़फोड़ की घटना से इंकार करते हुए चौहान द्वारा लगाए गए आरोपों को बेबुनिया बताया है। उन्होंने बताया कि आरोपी छात्र पर दो मामले पूर्व से दर्ज हैं। एक मामला अड़ीबाजी और दूसरा महिला से मारपीट का दर्ज है। अड़ीबाजी के मामले में आरोपी की गिरμतारी के लिए पुलिस टीम पहुंची थी, लेकिन तोड़फोड़ का आरोप गलत है।