परसाई व गिरीश कर्नाड की रचनाओं में शामिल गीतों पर रं ग संगीत की प्रस्तुति

परसाई व गिरीश कर्नाड की रचनाओं में शामिल गीतों पर रं ग संगीत की प्रस्तुति

भोपाल। गायन वादन, नृत्य और नाटक से सुसज्जित शहीद भवन में शुक्रवार को अनहद नाद-2019 का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत संस्कृति सुल्ताने की नृत्य नाटिका मुहुर्त से हुआ , जिसमें उन्होंने जीवन में हाल ही में घटित हुई घटनाओं को नृत्य के माध्यम से दिखाया गया। नृत्य में शिव के रूप को करपूर गौरम करूणावतारम... से प्रस्तुत किया गया। वहीं वेस्टर्न विद इंडियन फ्यूजन के तड़के में तू चल.. कविता भी शामिल रही। कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए शिकागो में दिए स्वामी विवेकानंद के भाषण को प्रस्तुत किया गया। इसके बाद प्रस्तुति में हरिशंकर परसाई, गिरीश कर्नाड जैसे साहित्यकारों की रचनाओं में शामिल गीतों पर रंग मौहल्ला समिति के कलाकारों द्वारा प्रस्तुति दी गई। इस दौरान कलाकारों ने गीतों और हाव भाव से साहित्यकारों की रचनाओं की परफार्मेंस दी। कार्यक्रम के अंत में संजय मेहता के निर्देशन में तैयार नाटक ‘स्वर्णिम भारत’ पर नाटक का मंचन हुआ। जिसमें भारत के पूर्व और वर्तमान दशा में अंतर को दिखाया गया। नाटक में जहां सती अनुसुइया, कालिदास शकुंतला, का उद्गम दिखाया। साथ ही स्वामी विवेकानंद के शिकागो में दिए गए भाषण के कुछ अंश भी इस नाटक में शामिल किए गए।