निजी बस संचालकों ने चार्टर्ड बसों पर कार्रवाई वर्ल्ड-डे अगेंस्ट चाइल्ड लेबर: पढ़ाई की जगह काम करने को मजबूर स्लम के बच्चे को लेकर आरटीओ को भेजा रिमाइंडर लेटर

निजी बस संचालकों ने चार्टर्ड बसों पर कार्रवाई वर्ल्ड-डे अगेंस्ट चाइल्ड लेबर: पढ़ाई की जगह काम करने को मजबूर स्लम के बच्चे को लेकर आरटीओ को भेजा रिमाइंडर लेटर

भोपाल  ।  भले ही आरटीओ ने चार्टर्ड बसों के संचालकों को कारण बताओ नोटिस जारी कर बढ़े हुए किराए की जानकारी मांगी हो, लेकिन यह नोटिस की कार्यवाही सिर्फ खानापूर्ति नजर आ रही है। निजी बस संचालकों ने आरटीओ को एक रिमाइंडर लेटर देकर कार्रवाई करने की मांग की है। ज्ञात हो कि भोपाल-इंदौर रूट पर 28 चार्टर्ड बसें चल रही हैं। ये बसें डीलक्स कैटेगिरी में रजिस्टर्ड हैं। फिर भी डीलक्स का किराया लेने की बजाए लग्जरी श्रेणी का किराया ले रही हैं। इनमें 116 रुपए प्रति व्यक्ति अधिक किराया वसूला जा रहा है।

30 मई को जारी हुआ था नोटिस, दी थी 2 दिन की मोहलत : भोपाल आरटीओ द्वारा इसको लेकर 30 मई को नोटिस जारी किया गया था। इसमें उन्होंने बीसीएलएल से चार्टर्ड बसों के बढ़े हुए किराए की जानकारी मांगी थी। इसके लिए उन्हें दो दिन का समय दिया गया था। वहीं बीसीएलएल के अधिकारियों की मानें तो उन्हें अभी तक नोटिस ही नहीं मिला है।