एसपी की हिदायत के बाद भी नहीं दबोचा जा सका पीएसओ

एसपी की हिदायत के बाद भी नहीं दबोचा जा सका पीएसओ

ग्वालियर ।  पूर्व सांसद के पीएसओ द्वारा बंदूक के बट से हमला करने के बाद एसपी नवनीत भसीन द्वारा दो घंटे में गिरμतारी के निर्देश फुर्र हो गए है, क्योंकि एक दिन बाद भी आरोपी आरक्षक अभी तक पुलिस की पकड़ में नहीं आ सका है। साथ ही हजीरा थाना पुलिस ने भी पार्षद परिजनों के मामले में बंदूक के बट से मारने के वीडियो वायरल होने के बाद भी हल्की-फुल्की धाराओं में निपटाकर इतिश्री कर ली है। रविवार को वार्ड क्रमांक 8 की पार्षद सीमा धर्मवीर राठौर के पड़ोसी व पूर्व सांसद रामलखन सिंह के पीएसओ विनोद राजावत मामले में 30 घंटे से ज्यादा का समय बीतने के बाद जरा भी प्रगति नहीं हो सकी है। जबकि एसपी नवनीत भसीन ने आरोपी पर कायमी के साथ ही तत्काल दो घंटे में गिरμतारी के निर्देश दिए थे, लेकिन इसके बाद भी आरोपी आरक्षक हमला करने वाली बंदूक के साथ मौके से गायब है। जानकारों की मानें तो पुलिस आरक्षक की तलाश में पुलिस ने मौके पर कोई भी दबिश नहीं दी है और हमलावर परिवार द्वारा पीड़ित परिजनों पर राजीनामे के लिए दबाव बनाया जा रहा है।