29 हजार संपत्तियों से टैक्स वसूलो जिससे पीएस के सामने रिपोर्ट दे सकूं

29 हजार संपत्तियों से टैक्स वसूलो जिससे पीएस के सामने रिपोर्ट दे सकूं

ग्वालियर।     शेष 29 हजार संपत्तियों से हर हाल में 6 करोड़ का टैक्स 30 अप्रैल तक वसूल करो, जिससे प्रमुख सचिव को पत्र भेजकर एक माह बाद पूरे टैक्स वसूली के संबंध में जानकारी दे सकूं। इसके बाद आपकी सभी बातें मानकर पूरी करवा दी जाएंगी। यह बात निगमायुक्त संदीप माकिन ने फूलबाग में सुबह 6.30 बजे से रात 11.30 बजे तक काम करने वाले संपत्तिकर कर संग्राहकों के विरोध करने पर आश्वासन देते हुए कही। फूलबाग पार्क में गांधी प्रतिमा के सामने संपत्तिकर विभाग के कर्मचारियों ने सुबह से काम बंदी कर जुटना शुरू कर दिया। विरोध की खबर फैलते ही संपत्तिकर विभाग के निगम वाट्स ग्रुप से एक साथ लगभग 60 से ज्यादा कर संग्राहकों के लेμट मारते ही निगम अधिकारियों में हड़कंप मच गया। साथ ही सभी कर संग्राहकों ने धरना देना शुरू कर दिया। आनन-फानन में निगमायुक्त ने संपत्तिकर उपायुक्त जगदीश अरोरा को सभी कर संग्राहकों से बातचीत करने पहुंचाया, लेकिन कर संग्राहकों ने सुबह 6.30 बजे से बुलाने, वरिष्ठ कर्मचारियों द्वारा गाली- गलौच करने, संपत्तिकर आईडी मिलने, टैक्स वसूली के लिए क्षेत्रफल बढ़ाने, सीनियर अधिकारियों को पदोन्नति देने, आॅफिसों में गंदे टायलेट की सफाई, नए फर्नीचर उपलब्ध कराने जैसे कई मामले गिना दिए और मांगे माने जाने के बाद ही पीछे हटने की बात कही। इसके बाद निगमायुक्त ने तत्काल फूलबाग पहुंचकर सभी कर्मचारियों को मनाने के लिए हर बात माने जाने का आश्वासन दिया। साथ ही कहा कि पहले चालू महीने में बिना किसी परेशानी के शेष टैक्स राशि वसूल करो, जिससे संपत्तिकर अमले के कार्य की भोपाल में जानकारी दी जा सके।

52 करोड़ की जगह मिले हैं मात्र 45.5 करोड़

बीते वित्तीय वर्ष 2018-19 में निगम को 45.5 करोड़ की राशि संपत्तिकर के रूप में मिली है, जबकि बीते वर्ष 2017-18 में निगम को संपत्तिकर वसूली के चलते लगभग 52 करोड़ व वित्तीय वर्ष 2016- 17 में लगभग 50.60 करोड़ की राशि टैक्स के रूप में मिली थी और चालू वित्तीय वर्ष में दो वर्षों की राशि से पीछे रहने पर निगम अधिकारी भोपाल के निशाने पर हैं।

6 नहीं 7 करोड़ कर देंगे टैक्स की राशि

नाराज संपत्तिकर वसूली अमले को मनाने पहुंचे निगमायुक्त ने जैसे ही कर्मचारियों के सामने तय समय सीमा में 6.5 करोड़ शेष टैक्स राशि व 29 हजार संपत्तियों से वसूली करने की बात कही, तो कर्मचारियों ने कहा कि 6 नहीं 7 करोड़ कर संपत्तियों की संख्या भी पूरी कर देंगे, लेकिन संपत्तियों से वसूली के लिए दी लिस्टानुसार वसूली से मुक्ति दी जाए, जिस पर निगमायुक्त ने सहमति दे दी।