पेटीएम की जांच में 10 करोड़ रु. की धोखाधड़ी का खुलासा

पेटीएम की जांच में 10 करोड़ रु. की धोखाधड़ी का खुलासा

नई दिल्ली। पेटीएम के प्रमुख विजय शेखर शर्मा ने बताया कि कंपनी की जांच में 10 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का खुलासा हुआ है। इसके बाद कंपनी ने कई कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया और सैकड़ों विक्रेताओं को अपने प्लेटफॉर्म से हटाया है। दोषी कर्मचारियों ने विक्रेताओं संग मिलकर यह फर्जीवाड़ा किया। शेखर ने कहा, दिवाली बाद देखने में आया कि कुछ छोटे विक्रेताओं को बड़ी मात्रा में कैशबैक मिला है। इसके बाद आॅडिटर्स को मामले की जांच का निर्देश दिया गया।

फर्जी ऑर्डर से हुआ था फर्जीवाड़ा

पेटीएम के परामर्शदाता फर्म ईवाई ने जांच में पाया कि कुछ जूनियर कर्मचारी छोटे विक्रेताओं के साथ मिलकर फर्जी आॅर्डर के जरिये कैशबैक इधर-उधर कर रहे हैं। कुल मिलाकर यह रकम करीब 10 करोड़ रुपये रही और खुलासा होने के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि कंपनी के प्लेटफॉर्म पर विक्रेताओं की संख्या में कमी आने के बावजूद हमारा प्रदर्शन बेहतर होगा।