विदेशी दबाव से सेंसेक्स टूटा

विदेशी दबाव से सेंसेक्स टूटा

मुंबई। कंपनियों के जून तिमाही के नतीजों की फीकी शुरुआत के बीच निवेशकों के बडे जोखिम से बचने के रुख के बीच स्थानीय शेयर बाजारों में उतार-चढ़व भरे कारोबार में बीएसई सेंसेक्स बुधवार को 174 अंक 38,557 अंक पर बंद हुआ। कारोबारियों के मुताबिक अमेरिकी उत्पादों पर आयात शुल्क लगाने को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा भारत पर ताजा हमला किये जाने का असर भी निवेशकों पर देखने को मिला। विदेशी निवेशकों की ओर से पूंजी निकासी का सिलसिला बने रहने तथा वाहनों की कमजोर बिक्री और रुपए की विनिमय दर में गिरावट से भी बाजार की धारणा प्रभावित हुई। प्रमुख 30 शेयरों वाले बीएसई सेंसेक्स में दिन में 400 अंक के दायरे में उतार- चढ़व दिखा और यह नीचे में 38,474.66 एवं ऊंचे में 38,854.85 अंक तक गया था। अंत में सेंसेक्स 173.78 अंक यानी 0.45 प्रतिशत गिर कर 38,557.04 पर बंद हुआ। सेंसेक्स कंपनियों में बजाज फाइनेंस का शेयर सबसे अधिक 4.91 प्रतिशत गिरा। टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज में 1.16 की गिरावट दर्ज की गयी। कंपनी का जून तिमाही का परिणाम बाजार की प्रत्याशा के अनुरूप नहीं बताया जा रहा है। मंगलवार को परिणाम आने से पहले भी यह शेयर गिरा था। टाटा स्टील, टाटा मोटर्स, एक्सिस बैंक, एलएंडटी, हीरो मोटोकॉर्प, एमएंडएम, बजाज आॅटो और एसबीआई के शेयरों में 2.94 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गई।

रुपया सात पैसे टूटा

दुनिया की प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर पर बने दबाव के बीच घरेलू स्तर पर शेयर बाजार में रही गिरावट के कारण बुधवार को अंतरबैंकिंग मुद्रा बाजार में रुपया सात पैसे टूटकर 68.58 रुपए प्रति डॉलर पर रहा। पिछले सत्र में रुपया 68.51 रुपए प्रति डॉलर पर रहा था। बुधवार को रुपया 10 पैसे की गिरावट लेकर 68.61 रुपए प्रति डॉलर पर खुला। डॉलर पर बने दबाव के बल पर यह 68.48 रुपए प्रति डॉलर के उच्चतम स्तर तक गया लेकिन शेयर बाजार में शुरू हुयी बिकवाली के दबाव में यह 68.67 रुपये प्रति डॉलर के निचले स्तर तक फिसल गया। अंत में यह 68.58 रुपये प्रति डॉलर पर रहा।