सेंसेक्स में लगातार छठवें दिन तेजी, निफ्टी भी 75 अंक चढ़ा

सेंसेक्स में लगातार छठवें दिन तेजी, निफ्टी भी 75 अंक चढ़ा

मुंबई। यूरोपीय संघ और ब्रिटेन के बीच ब्रेक्जिट समझौता होने से शेयर बाजारों में तेजी का रुख जारी रहा। शुक्रवार को घरेलू शेयर बाजारों में लगातार छठवें दिन तेजी रही। इस साल मध्य मार्च के बाद शेयर बाजार में यह तेजी का सबसे लंबा दौर है। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स शुक्रवार को 246.32 अंक यानी 0.63 प्रतिशत की तेजी के साथ 39,298.38 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह ऊंचे में 39,361.06 अंक और 38,963.60 अंक के निचले स्तर पर रहा। एनएसई का निफ्टी भी 75.50 अंक यानी 0.65 प्रतिशत की बढ़त के साथ 11,661.85 अंक पर बंद हुआ। साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स और निफ्टी दोनों में लगातार दूसरे सप्ताह बढ़त दर्ज की गई। सप्ताह के दौरान सेंसेक्स में 1,171.30 अंक यानी 3.07 प्रतिशत और निफ्टी में 356.80 अंक यानी 3.15 प्रतिशत की तेजी रही।

1.2 अरब डॉलर के शेयर खरीदे एफपीआई ने

कोटक सिक्योरिटीज के उपाध्यक्ष (पीसीज शोध) संजीव जरबाड़े ने कहा, ‘‘भारतीय बाजार ने इस सप्ताह अन्य प्रमुख वैश्विक बाजारों को पछाड़ दिया। विदेशी निवेशकों की खरीदारी, अमेरिका और चीन की व्यापार वार्ता की प्रगति तथा ब्रेक्जिट सौदे के कारण शेयर बाजारों में तेजी रही।’’ पिछले पांच कारोबारी दिनों में विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने 1.2 अरब डॉलर के शेयरों की खरीदारी की। घरेलू संस्थागत निवेशकों ने भी 26.3 करोड़ रुपए की शुद्ध लिवाली की। ज्ञात हो कि वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा वित्त वर्ष 2019-20 में राहत के और उपाय करने के संकेत देने से भी निवेशकों की धारणा को बल मिला। एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट, हांग कांग का हैंग सेंग और दक्षिण कोरिया का कोस्पी गिरावट में रहा। हालांकि, जापान का निक्की मजबूती में रहा।

येस बैंक में सर्वाधिक 8.44 % की तेजी

सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में येस बैंक सर्वाधिक 8.44 प्रतिशत की तेजी में रहा। इसके बाद मारुति सुजुकी, पावरग्रिड, एनटीपीसी, एलएंडटी और भारतीय स्टेट बैंक का स्थान रहा। रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर भी तिमाही परिणाम की घोषणा से पहले 1.37 प्रतिशत चढ़ गया। कारोबार के दौरान एक समय रिलांयस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 9,05,214 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। यह पहला मौका है, जब किसी भारतीय कंपनी का बाजार पूंजीकरण नौ लाख करोड़ रुपए के पार हुआ है। इसके विपरीत टाटा मोटर्स, बजाज आॅटा े, भारती एयरटेल , आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक और इंफोसिस का शेयर 1.05 प्रतिशत तक गिर गया। बीएसई के समूहों में विद्युत, पूंजीगत वस्तुएं, रियल्टी, यूटिलिटीज, धातु और र्इंधन में 2.63 प्रतिशत तक की तेजी रही। बीएसई के 19 समूह मजबूती में रहे।

रुपया दो पैसे चढ़ा, 71.14 प्रति डॉलर पर रहा

दुनिया की प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर के कमजोर पड़ने और घरेलू स्तर पर शेयर बाजार में तेजी बने रहने से मिले समर्थन के बल पर अंतरबैंकिंग मुद्रा कारोबार में शुक्रवार को रुपया दो पैसे चढ़कर 71.14 रुपये प्रति डॉलर पर रहा। पिछले सत्र में रुपया 71.16 रुपए प्रति डॉलर पर रहा था। शुक्रवार को रुपया मामूली गिरावट लेकर 71.17 रुपये प्रति डॉलर पर खुला। सत्र के दौरान यह 71.31 रुपए प्रति डॉलर के निचले और 71.05 रुपए प्रति डॉलर के उच्चतम स्तर के बीच रहा। अंत में यह पिछले सत्र की तुलना में दो पैसे चढ़कर 71.14 रुपए प्रति डॉलर पर रहा।

चांदी भी 315 रुपए गिरकर 46,325 रुपए प्रति किग्रा. पर पहुंची

रुपए में मजबूती और कमजोर वैश्विक रुख के कारण दिल्ली सर्राफा बाजार में शुक्रवार को सोने का भाव 145 रुपए की गिरावट के साथ 38,925 रुपए प्रति 10 ग्राम रह गया। एचडीएफसी सिक्युरिटीज के अनुसार, गुरुवार को सोना 39,070 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। एचडीएफसी सिक्युरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा कि कमजोर वैश्विक संकेतों और रुपए के मजबूत होने से दिल्ली में 24 कैरेट सोने का भाव 145 रुपए की गिरावट के साथ 38,925 रुपए प्रति 10 ग्राम रह गया। चांदी की कीमत भी 315 रुपये गिरकर 46,325 रुपए प्रति किलोग्राम रह गई, जिसका पिछला बंद भाव 46,640 रुपए प्रति किलोग्राम था। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने का भाव कमजोर रहकर 1,488 डॉलर प्रति औंस पर रहा और चांदी कमजोर होकर 17.46 डॉलर प्रति औंस रह गई। उन्होंने कहा कि ब्रेक्जिट समझौते को लेकर चिंता घटने के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोने की कीमत में गिरावट आई है।