मुंबई में बोले शाह- युद्धविराम के कारण पीओके पाक का हिस्सा

मुंबई में बोले शाह- युद्धविराम के कारण पीओके पाक का हिस्सा

मुंबई। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों की तारीख घोषित होने के अगले दिन रविवार को चुनावी बिगुल फूंकते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर पूरा देश खुश है। यह हर्ष का विषय है कि महाराष्ट्र चुनाव का श्रीगणेश अनुच्छेद 370 को हटाने के परिचय के कार्यक्रम से हो रहा है। शाह ने कहा कि महाराष्ट्र में एनडीए की सरकार बनना तय है। देवेंद्र फडनवीस एक बार फिर से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनेंगे। पिछले दो-तीन दिन से कांग्रेस और एनसीपी वाले कहते हैं कि ये नहीं हुआ तो जीत जाएंगे, वो नहीं हुआ तो जीत जाएंगे। मैं कहना चाहता हूं कि कुछ भी हो जाए महाराष्ट्र में एनडीए की सरकार तीन चौथाई बहुमत के साथ बनाना तय है। अमित शाह ने कहा कि जब मेरा कार्यक्रम तय हुआ तो, उस समय न मुझे मालूम था और न ही पार्टी को कि जब ये कार्यक्रम होगा तो महाराष्ट्र चुनाव की घोषणा के बाद होने वाला सबसे पहला कार्यक्रम होगा। उन्होंने कहा कि जनसंघ और भाजपा ने हमेशा अनुच्छेद 370 और धारा 35 ए के खिलाफ आवाज उठाई है।

न युद्धविराम होता न ही पीओके होता

शाह ने कहा कि आजादी के समय रियासतें भारत में शामिल हो रही थी। सरदार पटेल पर जिन रियासतों की जिम्मेदारी थी, सारी अखंड भारत का हिस्सा बनीं। जम्मू कश्मीर की जिम्मेदारी पंडित नेहरू पर थी और उनकी वजह से वहां अनुच्छेद 370 लागू करना पड़ा। आगे उन्होंने कहा कि पाकिस्तानियों ने कबीलों के रूप में हमला किया। युद्ध हुआ और पंडित नेहरू के कारण युद्धविराम करना पड़ा। न युद्धविराम होता और न ही पीओके होता।