सभी तरह के टेस्ट पास करने के बाद मैदान में उतरे थे स्मिथ

सभी तरह के टेस्ट पास करने के बाद मैदान में उतरे थे स्मिथ

लंदन। आस्ट्रेलिया के कोच जस्टिन लेंगर ने मध्यक्रम के बल्लेबाज स्टीव स्मिथ को चोटिल होने के बाद दोबारा बल्लेबाजी के लिए भेजने के अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा है कि उन्होंने स्मिथ को बल्लेबाजी के लिए भेजकर किसी तरह का जोखिम नहीं लिया है। लेंगर ने कहा, ‘‘स्मिथ सभी तरह के टेस्ट में पास होने के बाद बल्लेबाजी करने उतरे थे। टीम के सभी खिलाड़ी मेरे बच्चे जैसे हैं और उन्हें किसी तरह का नुकसान पहुंचे, मैं ऐसी कोई चीज नहीं कर सकता। हालांकि टेस्ट क्रिकेट में चोट लगना आम बात है। मेडिकल टीम ने स्मिथ को फिट घोषित किया था और वह भी बल्लेबाजी करना चाहते थे।’’

जोफ्रा आर्चर की गेंद से घायल हुए स्मिथ

आस्ट्रेलिया और मेजबान इंग्लैंड के बीच लॉर्ड्स मैदान पर खेले जा रहे एशेज सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन स्मिथ जब 80 रन के स्कोर पर खेल रहे थे तभी तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर की 148 किमी की रμतार वाली गेंद उनकी गर्दन के उस हिस्से पर लगी थी, जो हेलमेट से ढका नहीं था। स्मिथ गेंद लगाने के बाद मैदान पर गिर पड़े थे और उन्हें मैदान से बाहर ले जाकर उनका इलाज किया गया। लेकिन उन्हें 46 मिनट बाद ही मैदान पर बल्लेबाजी करने के लिए उतरना पड़ा और वह 92 के स्कोर पर आउट हुए। स्मिथ इस तरह सीरीज में लगातार तीसरा शतक बनने से चूक गए।

आस्ट्रेलियाई किक्रेट संघ ने हूटिंग की आलोचना की

आस्ट्रेलियाई क्रिकेट संघ (एसीए) ने जोफ्रा आर्चर के बाउंसर से पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ के गर्दन पर चोट लगने के बाद हुई हूटिंग की आलोचना करते हुए कहा कि खेल में अच्छे आचरण की जरुरत है। एसीए के अध्यक्ष ग्रेग डायर और मुख्य कार्यकारी अधिकारी एलिस्टर निकोलसन ने संयुक्त बयान जारी कर कहा, ‘‘क्रिकेट में इससे कहीं बेहतर आचरण की अपेक्षा की जाती है। लार्ड्स को क्रिकेट का मक्का कहा जाता है, वहां इससे काफी बेहतर आचरण होना चाहिए था। ’’

स्मिथ के चोटिल होने के बाद ‘दिल की धड़कन’ रुक गई थी: जोफ्राआर्चर

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने कहा कि दूसरे एशेज टेस्ट के दौरान आस्ट्रेलिया के अनुभवी बल्लेबाज स्टीव स्मिथ को चोटिल करने की उनकी कोई योजना नहीं थी लेकिन जब वह मैदान पर गिरे तब ‘एक पल के लिए सब के दिल की धड़कन रुक गयी’ थी। स्मिथ के चोटिल होने के बाद मैदान पर गंभीरता नहीं दिखाने के कारण सोशल मीडिया पर आर्चर की आलोचना की गई, लेकिन उन्होंने बीबीसी रेडियो से कहा, ‘‘ मेरी ऐसी कोई योजना नहीं थी (बल्लेबाज को चोटिल करने की)। आप पहले विकेट लेने की कोशिश करते है। जब वह गिर रहे थे, तब एक पल के लिए सबकी धड़कनें रुक गयी थी।’