सोनिया - सिंधिया में मुलाकात नहीं,13 को साफ होगी तस्वीर

सोनिया - सिंधिया में मुलाकात नहीं,13 को साफ होगी तस्वीर

भोपाल   कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की मंगलवार को होने वाली मुलाकात टल गई। अब सबकी निगाहें प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर है और इसके लिए 12 सितम्बर के बाद कोई फैसला हो सकता है। नियुक्ति के पहले सोनिया, मुख्यमंत्री कमलनाथ, सांसद दिग्विजय सिंह और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ मंथन करेंगी। प्रदेश में आज सोनिया-सिंधिया मुलाकात को लेकर राजनीतिक हलचल बनी रही। शाम को खबर आई कि सोनिया से सिंधिया के मुलाकात करने का समय ही तय नहीं था। दरअसल, सिंधिया को देर शाम विदेश से दिल्ली लौटना था और इसके बाद मुलाकात होना थी। हालांकि सूत्रों की खबर है कि सिंधिया ने खुद कहा है कि उन्होंने सोनिया से मिलने के लिए कोई समय नहीं मांगा। उल्लेखनीय है कि 12 सितम्बर को पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष ने दिल्ली में पार्टीजनों की बड़ी बैठक बुलाई है। इसमें महासचिव, कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, नेता प्रतिपक्ष और प्रदेश अध्यक्षों को बुलाया गया है।

दिल्ली में चार दिग्गजों के साथ होगा मंथन

12 सितंबर को बैठक कार्रवाई पूरी होने के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के लिए अलग से चर्चा करेंगी। यह चर्चा कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया के साथ होगी। इसके बाद ही कोई फैसला लिया जा सकेगी। प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया नेबताया कि दिल्ली में 12 को बैठक होने के बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के लिए13 सितंबर को तस्वीर साफ होगी।

ज्योतिरादित्य का ट्वीट- मुस्तैद रहे सरकार, कमलनाथ ने लिखा - बचाव कार्य जारी

भोपाल। बारिश पर ट्वीटवार जारी है। मंगलवार को पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ ने ट्वीट किए। सिंधिया के ट्वीट का मुख्यमंत्री ने जवाब भी दिया। सिंधिया ने लिखा-‘प्रदेश के कई हिस्सों में भारी बारिश की बजह से कई जानें चली गई । ईश्वर से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान करें एवं शोकाकुल परिजनों को यह आघात सहने की शक्ति दें। बारिश की वजह से बहुत नुकसान हुआ है। सरकार से निवेदन है प्रभावित क्षेत्रों में पूरी मुस्तैदी से राहत कार्य चलाए जाएं। जिसे समय रहते स्थिति पर काबू पाया जा सके’। कमलनाथ ने कहा - ‘दु:ख की घड़ी में सरकार प्रभावित परिवारों के साथ है। राहत व बचाव कार्य जारी है। सरकार प्रभावित परिवारों के साथ मुस्तैदी से खड़ी है उनकी पूरी मदद की जाएगी’।