सोनिया ने कमलनाथ को सौंपी दूसरे दलों के साथ बातचीत की जिम्मेदारी

सोनिया ने कमलनाथ को सौंपी दूसरे दलों के साथ बातचीत की जिम्मेदारी

भोपाल लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में 59 सीटों पर चुनाव 19 मई को होने हैं। देश में बन रहे राजनीतिक हालातों को देखते हुए यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने मप्र के मुख्यमंत्री को बड़ी जिम्मेदारी दी है। कमलनाथ यूपीए का गठजोड़ बनाने और अन्य दलों के नेताओं को साथ लाने का काम करेंगे। उन्हें गैर भाजपाई दलों जैसे मायावती, ममता बनर्जी, बीजू पटनायक, जगमोहन और केसीआर से बातचीत करने का जिम्मा दिया गया है। वैसे कमलनाथ को फ्लोर मैनेजमेंट का बहुत अनुभव है और हर पार्टी में उनकी पकड़ है। माना जाता है कि ज्यादातर पार्टियों के नेता उनकी इज्जत करते हैं। कांग्रेस में कई और भी दिग्गज नेता हैं, लेकिन कमलनाथ का चयन सोनिया गांधी ने काफी सोच-विचार के बाद किया हैं। खासकर मप्र में कांग्रेस की सरकार बनवाने में कमलनाथ की महत्वपूर्ण भूमिका रही है, जिसके कारण ही उन्हें मुख्यमंत्री का पद भी मिला। अब कमलनाथ देश का प्रधानमंत्री बनाने के लिए गैर भाजपाई दलों के साथ रणनीति बनाएंगे।