चालू वित्त वर्ष में ही की जाएगी स्पेक्ट्रम की नीलामी: प्रसाद

चालू वित्त वर्ष में ही की जाएगी स्पेक्ट्रम की नीलामी: प्रसाद

नई दिल्ली। संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने स्पेक्ट्रम मूल्य में सुधार का आश्वासन देते हुये सोमवार को कहा कि स्पेक्ट्रम नीलामी चालू वित्त वर्ष में ही की जाएगी। प्रसाद ने यहां प्रौद्योगिकी पर आधारित तीन दिवसीय इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) 2019 के शुभारंभ के मौके पर कहा कि टेलीकॉम क्षेत्र के लिए आवश्यक सभी नीतिगत सुधार किये गये हैं। अब स्पेक्ट्रम मूल्य को लेकर चिंता जतायी जा रही है। इसके मद्देनजर स्पेक्ट्रम मूल्य में भी सुधार किया जायेगा। इससे पहले भारती एयरटेल के सुनील भारती मित्तल ने आईएमसी को संबोधित करते हुये कहा कि दुनिया के प्रमुख देशों की तुलना में देश में स्पेक्ट्रम का मूल्य करीब सात गुना तक अधिक है।

दूरसंचार कंपनियों ने स्पेक्ट्रम की नीलामी नहीं करने की सलाह

उल्लेखनीय है कि देश की प्रमुख दूरसंचार कंपनियों ने सरकार को 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी फिलहाल नहीं करने की सलाह दी है। कंपनियों ने कहा कि 5जी स्पेक्ट्रम नीलामी से पहले देश में इसके लिए इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण पर जोर दिया जाना चाहिए।

रिलायंस जियो ने कहा, 5जी स्पेक्ट्रम की कीमत पर गौर करने की जरूरत

इससे पहले रिलायंस जियो ने कहा है कि सरकार को स्पेक्ट्रम की समयबद्ध तरीके से उपलब्धता सुनिश्चित करने की जरूरत है। कंपनी ने कहा कि देश को इस क्षेत्र में नेतृत्व की भूमिका में लाने के लिये 5जी स्पेक्ट्रम की कीमत पर गंभीरता से गौर करने की जरूरत है। रिलायंस जियो इन्फोकॉम के निदेशक मंडल के सदस्य महेंद्र नहाटा ने इंडिया मोबाइल कांग्रेस-2019 को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘सरकार को समय पर स्पेक्ट्रम उपलब्ध कराने के लिए स्पष्ट रूपरेखा बनानी चाहिए। स्पेक्ट्रम नीलामी में लंबा अंतराल समाप्त होना चाहिए।’’ नहाटा ने कहा, ‘‘इसके अलावा उद्योग को दो नीलामियों के बीच भी आखिरी नीलामी में निकले मूल्य के आधार पर लगातार स्पेक्ट्रम उपलब्ध कराया जाना चाहिए।’’ उन्होंने कहा कि भारत को 5जी क्षेत्र में अगुवा बनाने के लिए इस स्पेक्ट्रम के मूल्य पर गंभीरता से विचार करने की जरूरत है। नहाटा ने कहा कि स्पेक्ट्रम के ऊंचे दाम से 5जी प्रभावित होगा। उन्होंने कहा कि सरकार को दूरसंचार क्षेत्र के लिए समग्र दृष्टिकोण अपनाने की जरूरत है।