माफियाओं के विरूद्ध हो सख्त कार्रवाई

माफियाओं के विरूद्ध हो सख्त कार्रवाई

ग्वालियर एन्टी माफिया के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत संभाग के सभी जिलों में प्रभावी कार्रवाई की जाए। शासकीय भूमियों पर अतिक्रमण कर व्यवसायिक उपयोग करने वालों के साथ-साथ अन्य क्षेत्रों में भी सक्रिय माफियाओं के विरुद्ध प्रशासन सख्त कार्रवाई करें। अभियान के तहत किसी भी ऐसे व्यक्ति को जो माफिया की तरह कार्य कर रहे हैं, बख्शा नहीं जाए। संभागीय आयुक्त एमबी ओझा ने बुधवार को मोतीमहल के मानसभागार में कलेक्टर कॉन्फ्रेंस में यह निर्देश दिए हैं। संभागीय आयुक्त एमबी ओझा ने कहा कि एन्टी माफिया अभियान के तहत भू- माफियाओं के साथ-साथ खनिज माफिया, शराब माफिया, शिक्षा माफिया एवं अन्य क्षेत्र में माफियाओं की तरह कार्य कर रहे लोगों पर भी प्रभावी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि संभाग के सभी जिलों में गृह निर्माण समितियों की भी जांच की जाए और जिन समितियों में अनियमितता पाई जाए, उनके विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। संभागीय आयुक्त एम बी ओझा ने बैठक में सभी कलेक्टरों को निर्देशित किया कि औकाफ माफी के जितने भी मंदिर हैं उनसे लगी हुई जमीनों पर विशेष निगरानी की जाए। किसी भी मंदिर की जमीन पर कोई कब्जा न हो, यह सुनिश्चित किया जाए। कहीं पर भी अगर कब्जा या अतिक्रमण हो तो उसको तत्काल हटाने की कार्रवाई की जाए। उन्होंने कलेक्टरों को यह भी निर्देशित किया कि सभी जिलों में औकाफ की सम्पत्तियों एवं उनसे लगी हुई खुली भूमि की सूची तैयार कर जांच करा ली जाए। इसके साथ ही शासकीय भूमियों पर ट्रस्ट बनाकर कार्य करने वाले ट्रस्टों के विरुद्ध भी कार्रवाई की जाए।

आंगनबाड़ी केन्द्रों को शासकीय भवनों में करें शिμट :  संभागीय आयुक्त ने महिला एवं बाल विकास विभाग की समीक्षा बैठक में कहा है कि संभाग के सभी जिलों में ऐसे आंगनबाड़ी केन्द्र जो प्राइवेट भवनों में संचालित हो रहे हैं, उन्हें शासकीय भवनों में शिμट करने की कार्रवाई की जाए। संभाग के सभी कलेक्टर इस दिशा में अपने-अपने जिलों में प्रभावी कार्रवाई करें। इसके साथ ही आंगनबाड़ी केन्द्रों के रिक्त पदों की पूर्ति भी सभी जिलों में प्राथमिकता के आधार पर की जाए। बैठक में सभी जिलों के कलेक्टर एवं सीईओ जिला पंचायत भी उपस्थित थे।