बिना किसी तैयारी के सुपर हॉस्पीटल शुरू, प्राइवेसी के लिए पर्दे तक नहीं हैं

बिना किसी तैयारी के सुपर हॉस्पीटल शुरू, प्राइवेसी के लिए पर्दे तक नहीं हैं

ग्वालियर।   जेएएच परिसर में दबाव के बाद सुपरस्पेशिलिटी हॉस्पिटल में सोमवार से ओपीडी की सुविधा तो शुरू हो गई है, लेकिन यह ओपीडी बिना किसी तैयारी के साथ शुरू की गई है। डॉक्टर्स को चेकअप के लिए उपकरण नहीं दिए गए हैं, मरीजों की प्राइवेसी के लिए ओपीडी रूम में पर्दे भी नहीं लग पाए हैं यहां तक ओपीडी में ड्यूटी करने वालों को इंफेक्शन का खतरा पैदा हो गया है प्रबंधन इन डॉक्टर्स के प्रयोग में होने वाले ग्लब्स सेनिटाइजर भी मुहैया नहीं करा पाया है, ऐसे में ड्यूटी करने वाले डॉक्टरों को इंफेक्शन होने का खतरा पैदा हो गया है। प्रबंधन द्वारा तीन विभाग की ओपीडी में कुल 26 मरीज ओपीडी में दिखाने के लिए पहुंचे जिसमें पीडियाट्रिक सर्जरी 14, यूरोलॉजी 6 और न्यूमोटोलॉजी विभाग में 6 मरीज पहुंचे इतनी कम संख्या में मरीज आने के पीछे एक मुख्य कारण जेएएच की ओपीडी में इस ओपीडी का प्रचार नहीं होना भी है। सुपरस्पेशिलिटी के अधीक्षक धीरे-धीरे व्यवस्था ठीक होने की बात कह रहे हैं। हालांकि की व्यवस्थाओं को जांचने के लिए प्रभारी डीन डॉ. सरोज कोठारी भी सुपरस्पेशिलिटी पहुंची और उन्होंने डॉक्टर्स से चर्चा की।

नहीं छपे पर्चे, सेंट्रेल विंडो प्रभारी ने दिया इस्तीफा

सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल प्रबंधन मरीजों के लिए पर्चे तक प्रिंट नहीं करा पाया है, ओपीडी में आने वाले मरीजों का उपचार जेएएच चिकित्सालय समूह के पर्चों पर किया गया । दरअसर स्थापना शाखा के प्रभारी डॉ. निरंजन सुबह सेंट्रल विंडो पहुंच गए और वह विंडों पर कर्मचारियों से पर्चे के कट्टों की मांग करने लगे जब कर्मचारियों ने पर्चे देने से मना किया तो वह कर्मचारियों ने नाराज हो गए। कर्मचारियों के बुलावे पर सेंट्रल विंडों प्रभारी भी वहां पहुंचे गए और प्रभारी डॉ. प्रवेश भदौरिया ने गुस्से में जेएएच अधीक्षक को अपना इस्तीफा दे दिया हालांकि अभी इनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया है।

मरीजों के लिए पानी की सुविधा नहीं

सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में पानी तक की व्यवस्था नहीं की और आनन-फानन में आकर ओपीडी की शुरूआत कर दी। सुपर स्पेशलिटी में पहुंचे मरीजों के परिजन पीने के पानी को तरस गए, उन्हे पीने का पानी तक नहीं मिला। वहीं सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के चिकित्सक भी पीने का पानी अपने घर से लेकर आ रहे हैं।