यातायात व्यवस्था को बिगाड़ रहे अस्पताल, होटल और मैरिज गार्डन, अब होगी कड़ी कार्यवाही

यातायात व्यवस्था को बिगाड़ रहे अस्पताल, होटल और मैरिज गार्डन, अब होगी कड़ी कार्यवाही

जबलपुर ।   शहर में यातायात व्यवस्था को ग्रहण लगाने वाले निजी अस्पताल, होटल, कालेज, स्कूल, मैरिज गार्डन व बैंकों के खिलाफ अब यातायात पुलिस द्वारा अभियान चलाकर कार्यवाही की जाएगी। इन संस्थानों द्वारा वाहनों की पार्किंग के लिए सड़कों को घेर लिया है, जिससे हर वक्त जाम के हालात निर्मित होते हैं। इस संबंध में एएसपी यातायात अमृत मीणा ने बताया कि नगर में सैकड़ों व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के माध्यम से प्रति वर्ष लाखों रुपए का व्यापार करते हैं, परंतु उनके द्वारा मानक के अनुरूप पार्किंग स्थल का इंतजाम नहीं किया, जिसका परोक्ष रूप से परिणाम आम जनता को ट्रैफिक जाम के रूप में भुगतना पड़ता है। इतना ही नहीं नीचे बेसमेंट पर पार्किंग स्थल मौजूद है, जिसमें उन्होंने दुकानें संचालित कर दीं।

यातायात पुलिस को भी मिले कानूनी अधिकार

यातायात पुलिस यद्यपि मौके पर वाहन को जप्त कर चालानी कार्रवाई करती है, किंतु व्यावसायिक प्रतिष्ठान के संचालकों के विरुद्ध कोई प्रभावी कानूनी कार्रवाई नहीं हो पा रही थी।अब जबकि कलेक्टर द्वारा कार्यपालक दंडाधिकारियों की नियुक्ति कर दी गई है, ऐसी स्थिति में यातायात पुलिस को इस संबंध में कानूनी कार्रवाई करने का अधिकार प्राप्त हो गया है। यातायात पुलिस के नोटिस पर अमल नहीं किया गया तो वह धारा 133 जा.फौ. के अंतर्गत उसे न्यूसेंस मानकर उसके विरुद्ध विधि संगत कार्रवाई करने हेतु कार्यपालक दंडाधिकारी के समक्ष इस्तगासा पेश करेगी। कार्यपालक दंडाधिकारी गुण दोषों के आधार पर उपरोक्त मामले में आवश्यक कार्यवाही करने हेतु सक्षम है, यदि आवश्यकता पड़ी तो उपरोक्त स्थान पर किये गए निर्माण कार्य को तोडनÞे के लिए भी प्रशासन सक्षम होगा।

गैस किट लगी वैन में सवार थे 16 स्कूली बच्चे

सेंट जोसेफ स्कूल पेंटीनाका पर गैस किट लगी हुई स्कूल वैन जप्त की गई जिसमें 16 स्कूली बच्चे परिवहन करते पाए गए उपरोक्त वाहन चालक व मालिक पर न्यायालय कार्यवाही की जावेगी। यातायात पुलिस द्वारा बार-बार चेतावनी देने के उपरांत भी पैसों के लालच में मारुति वैन चालक अपनी आदतों में कोई सुधार नहीं ला रहे हैं । शासन के स्पष्ट निर्देश हैं कि स्कूल के बच्चों को गैस किट लगे वाहनों में नहीं बिठाया जाएगा । इस संबंध में यातायात पुलिस ने वाहन चालकों को बुलाकर निर्देशित कर दिया था । इसके उपरांत भी मंगलवार को एक ऐसा मामला प्रकाश में आया है । यातायात पुलिस उपरोक्त वाहन चालक के विरुद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई करने जा रही है । साथ ही बच्चों के अभिभावकों से भी अपील की है कि ऐसे खतरनाक वाहन में अपने मासूमों को बिठाकर स्कूल ना भेजें। उपरोक्त वाहन कभी भी आपके बच्चों के जीवन के लिए घातक साबित हो सकता है।