शाम को सिर पर जवारे रखकर निकलीं महिलाएं

शाम को सिर पर जवारे रखकर निकलीं महिलाएं

जबलपुर। रविवार को शाम को मंदिरों में माताओं-बहनों की कतार लगी रही। नवरात्र पर्व के समापन पर मंदिरों से जवारे चल समारोह निकाले गए। इस मौके पर श्रद्धालुओं द्वारा सड़कों को धोया गया। सरोवरों के अलावा नर्मदा तटों पर रात में जवारों का विसर्जन किया गया। शक्ति नगर स्थित मां श्री शारदा आशीष दरबार से कलश, खप्पर जवारे की शोभायात्रा शाम 7 बजे निकाली गई। अधिष्ठाता आशीष भैया के मार्गदर्शन में 161 सवार जवारे बाल कन्याओं व माता-बहनों ने बड़े ही मनोभाव से सिर पर धारण कर शोभायात्रा में उपस्थिति दर्ज कराई। चल समारोह में मुकेश कुशवाहा, मिलन मुखर्जी, जयंत क्षीरसागर, संजय बारहा, सुबोध मिश्रा, पंकज दुबे, संतोष द्विवेदी, मोहन जोशी, कौशलेन्द्र महाजन, संतोष मिश्रा, उनायक बंधू, शंभु डांडियाल, रवि गुजर, मनोज पटेल, सरबजीत सिंह तग्गड़, तरनजीत आदि का सहयोग रहा।

बड़ी खेरमाई के जवारे 16 को

श्री बड़ी खेरमाई मंदिर ट्रस्ट समिति द्वारा जवारे चल समारोह 16 अप्रैल को निकाला जाएगा। ट्रस्ट समिति के अध्यक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता आदर्श मुनि त्रिवेदी ने बताया कि शाम 7 बजे मंदिर प्रांगण से सिर पर कलश लेकर सैकड़ों मातायें-बहनें शामिल होंगी। जवारा विसर्जन हनुमानताल तालाब में किया जाएगा।