यह साधना का पर्व है, घर में रहें, सरकार किसी भी चीज की कमी नहीं होने देगी : शिवराज

यह साधना का पर्व है, घर में रहें, सरकार किसी भी चीज की कमी नहीं होने देगी : शिवराज

भोपाल ।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को लॉकडाउन में किसी तरह की चिंता न करने की बात कही। उन्होंने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि 1 दिन कट गया है। 20 दिन बाकी हैं। यह साधना का वक्त है। 20 दिन संयम रखकर घर में रहें। इस दौरान उन्होंने जरूरतमंदों के लिए राहत पैकेजों की भी घोषणा की। इसके तहत प्रदेश के 46 लाख पेंशनर्स को दो माह की एडवांस 600 रुपए प्रतिमाह पेंशन दी जाएगी। इसके लिए 275 करोड़ प्रतिमाह खर्च होगा । 21 दिन का लॉकडाउन है, अब 20 दिन ही बाकी हैं।  जरूरत के सामान की कोई कमी नहीं होने देंगे, सभी कलेक्टरों को निर्देश दिए हैं। जमाखोरी करने वालों पर कार्रवाई होगी। 104 और 181 नंबर पर फोन करें, आपको सभी चिकित्सा सुविधा घर पर ही मुहैया कराई जाएगी। 46 लाख पेंशनरों को 2 माह की एडवांस पेंशन 1200 रुपए का भुगतान किया जाएगा। किसानों को फसल कटाई के लिए आने वाले हार्वेस्टर नहीं रोके जाएंगे। कल ही फसल खरीदी के लिए भी बैठक होगी।  मजदूरों को लगभग 8.25 लाख रुपए की सहायता प्रति मजदूर 1000 रुपए के हिसाब से उपलब्ध कराएंगे। 2.20 लाख राशि सहरिया, बैगा, भारिया जनजातियों के परिवारों के खातों में दो माह की एडवांस राशि दो हजार रुपए भेजी जाएगी। अप्रैल 2020 तक का खाद्यान्न रिलीज किया जा चुका है। यह राशन दुकानों को उपलब्ध कराया जाएगा। 

सीएम को यह सुझाव भी मिले...

 खाली होटलों को क्वारेंटाइन वार्ड में तब्दील किया जाए, ताकि संक्रमित लोग स्वस्थ लोगों के संपर्क में ना आ पाएं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि इस संबंध में विचार किया जाएगा कि क्या यह व्यवस्था संभव है।  भोपाल में कोरोना के इलाज के लिए बीएमएचआरसी से बेहतर काटजू या जैसे नॉन रेसीडेंशियल अस्पताल हो सकते हैं। इटऌफउ के आसपास रहवासी कॉलोनी है। वहां स्टाफ भी रहते हैं।

सुधरेगी 104 नंबर की व्यवस्था

मुख्यमंत्री को यह जानकारी देने पर कि 104 नंबर की व्यवस्था यूजलेस है क्योंकि उन्हें कॉल करने पर अजीब तरह के जवाब मिलते हैं। सीएम ने कहा कि इस पर प्रशिक्षित डॉक्टरों को तैनात किया जाएगा जो हेल्पलाइन के कॉल्स अटेंड करेंगे।