तस्कर को दबोचने गई एसटीएफ को ग्रामीणों ने घेरा, झड़प के बाद आरोपी गिरफ्तार

तस्कर को दबोचने गई एसटीएफ को ग्रामीणों ने घेरा, झड़प के बाद आरोपी गिरफ्तार

जबलपुर भारी मात्रा में गांजा सप्लाई करने की सूचना मिलने के बाद रीवा जिले के बैकुंठपुर थाना क्षेत्र स्थित ग्राम सलैया निवासी गांजा तस्कर को दबोचने उसके घर पहुंची एसटीएफ जबलपुर की टीम की ग्रामीणों से झड़प हो गई। ग्रामीण गांजा तस्कर को पकड़कर नहीं ले जाना चाहते थे। करीब आधे घंटे चली मशक्कत के बाद आखिरकार जबलपुर एसटीएफ की टीम गांजा तस्कर को पकड़कर जबलपुर ले आई। एसटीएफ ने तस्कर गौरव सिंह के पास से 70 किलो 500 ग्राम करीब 7 लाख रुपए का जब्त किया है। देर रात को जैसे ही तस्कर के परिचितों को खबर लगी कि उसे पुलिस की एक टीम पकड़कर जबलपुर ले जा रही है उसके तुरंत बाद ग्रामीणों ने रात में डकैत-डकैत शोर मचाकर एसटीएफ टीम का विरोध करना शुरू कर दिया। इस दौरान ग्रामीणों और एसटीएफ के बीच झड़प भी हुई लेकिन बाद में आरोपी को टीम दबोचकर अपने साथ ले आई।

चाचा अपने भतीजे से बिकवाता था गांजा

एसटीएफ टीआई गणेश सिंह ठाकुर ने बताया कि गांजा तस्करी का मुख्य आरोपी पप्पू सिंह अपने भतीजे गौरव सिंह से गांजा का बिकवाता था। एसटीएफ की टीम अब पप्पू सिंह की गिरफ्तारी के प्रयास में जुटी है। गांजा तस्कर को गिरफ्तार करने में एसटीएफ टीआई गणेश सिंह ठाकुर, उनि संध्या मेश्राम, सउनि शैलेंद्र सोनी, प्रआ गजेंद्र बागरी, आरक्षक निर्मल सिंह पटेल, छत्रपाल सिंह पटेल, नीलेश दुबे, अंजनी पाठक, प्रवीण बावरिया, हर्षवर्धन तिवारी, मनीष तिवारी, लेखन सिंह, दिलावर सिंह की अहम भूमिका रही।

छत्तीसगढ़ से आती थी गांजा की खेप

जानकारी के अनुसार एसटीएफ एसपी राजेश सिंह भदौरिया के मार्गदर्शन में जबलपुर एसटीएफ की टीम रीवा जिले के थाना बैकुंठपुर स्थित ग्राम सलैया में छापा मारने पहुंची। एसटीएफ जबलपुर टीआई गणेश सिंह ठाकुर ने बताया कि टीम को मुखबिर से सूचना मिली कि रीवा जिले के ग्राम सलैया में रहने वाला गौरव सिंह छत्तीसगढ़ से बड़ी मात्रा में गांजा की खेप बुलवाकर गांजा तस्करी कर रहा है। जिसके बाद एसटीएफ टीम ने गौरव के घर पर दबिश देकर करीब 7 लाख रुपए कीमत का 70 किलो 500 ग्राम गांजा जब्त किया। एसटीएफ भोपाल थाना में आरोपी गौरव सिंह राजपूत के खिलाफ 8,20 एनडीपीएस एक्ट के तहत अपराध कायम कर पूछताछ की जा रही है।