अंधे-बहरे कांग्रेस के नेता बताएं क्यों कम हो गए पाकिस्तान में हिंदू-सिख :अमित शाह

अंधे-बहरे कांग्रेस के नेता बताएं क्यों कम हो गए पाकिस्तान में हिंदू-सिख :अमित शाह

जबलपुर । देश जब आजाद हुआ था उस समय पूर्वी और पश्चिमी पाकिस्तान में लगभग 30-30 प्रतिशत हिंदू, सिख, बौद्ध, पारसी, ईसाई आदि धार्मिक अल्पसंख्यक थे,लेकिन अब पाकिस्तान में सिर्फ 3 प्रतिशत और बांग्लादेश में 7 प्रतिशत ही बचे हैं। कांग्रेस के अंधे और बहरे नेता बताएं कि पाकिस्तान और बांग्लादेश के हमारे हिंदू, सिख और अन्य अल्पसंख्यक भाई कहां चले गए, इन्हें या तो मार डाला गया, इनका धर्म परिवर्तन करा दिया गया, इनकी बेटियों, बहनों पर परिवार के लोगों के सामने अत्याचार किए गए। इन्हीं में से कुछ लोग अपना सब कुछ गवांकर, अपने धर्म और सम्मान की रक्षा के लिए किसी तरह भारत आए हैं। यह बात भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को जबलपुर में गैरीसन ग्राउंड में सीएए पर जनजागरण के लिए आयोजित जनसभा में कही। इस अवसर पर श्री शाह ने कांग्रेस सहित ममता बैनर्जी,केजरीवाल और मप्र के मुख्यमंत्री कमलनाथ पर तीखे प्रहार किए।

महात्मा गांधी तक की नहीं मानी कांग्रेस ने

गृहमंत्री श्री शाह ने कहा कि 12 जुलाई 1947 को महात्मा गांधी ने कहा था कि जो लोग पाकिस्तान में रह गए हैं, वे कभी भी भारत आ सकते हैं। यहां उन्हें सारी सुविधाएं मिलेंगी। लेकिन राहुल बाबा आपने तो महात्मा गांधी को कब का छोड़ दिया।

विरोध की वजह सिर्फ वोट बैंक की राजनीति

श्री शाह ने कहा कि देश के बंटवारे के समय जो लोग पाकिस्तान में रह गए थे उन्हें हमारे नेताओं ने आश्वासन दिया था कि आप जब भी आएंगे, भारत आपको सम्मान देगा। अब मोदी जी ने इन पीड़ित लोगों को नागरिकता देने का कानून बनाया तो कांग्रेसी,वामपंथी, ममता दीदी, केजरीवाल इसका विरोध कर रहे हैं। मैं कांग्रेसियों से पूछना चाहता हूं कि अब मोदी जी उस वचन को पूरा कर रहे हैं, तो क्यों उससे भाग रहे हो।

वोट बैंक के लालच में पाकिस्तान की भाषा बोल रहे विरोधी दल

श्री शाह ने कहा कि मोदी जी ने कश्मीर से 370 और 35 ए हटाकर उसे भारत का अटूट हिस्सा बना दिया,कांग्रेस ने विरोध किया। राम मंदिर मुद्दे पर कांग्रेस के वकील कपिल सिब्बल कहते हैं कि राम जन्मभूमि पर मंदिर नहीं बनना चाहिए। मोदी जी ने सर्जिकल स्ट्राइक की,एयर स्ट्राइक की। ये पाकिस्तान की तरह उसके सबूत मांगते हैं। श्री शाह ने पूछा कि जो लोग जेएनयू में देश के हजारों टुकड़े करने के नारे लगाते हैं उन्हें जेल में होना चाहिए या नहीं, लेकिन केजरीवाल और राहुल बाबा कहते हैं उन्हें बचा लो। श्री शाह ने कहा कि राहुल, केजरीवाल, ममता,इमरान खान इन सबकी भाषा एक जैसी क्यों है।

जोर से बोलने की उम्र नहीं है कमलनाथ जी

श्री शाह ने कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ सोनिया मैडम को खुश करने के लिए बड़े जोर से कहते हैं मध्यप्रदेश में यह कानून लागू नहीं होगा। मैं कहना चाहता हूं कमलनाथ जी आपकी अब जोर से बोलने की उम्र नहीं रही।

शरणार्थी बच्ची ने कहा वापस नहीं जाऊंगी चाहे गोली मार दो - शिवराज

अपने उदबोधन में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री रहते वे एक बार इंदौर गए थे तो उन्हें वहां पाकिस्तान के कुछ हिन्दू परिवार मिले जो नागरिकता की मांग कर रहे थे। उनमें कुछ बच्चियां भी थीं जो कह रही थीं कि नर्क में वापस नहीं जाएंगे चाहे आप हमें गोली मरवा दीजिए। ऐसे लोगों को नागरिकता नहीं मिलनी चाहिए आप ही बताएं। श्री चौहान ने पीएम श्री मोदी व श्री शाह द्वारा विगत 6 माह में लिए गए निर्णयों पर जमकर तारीफ की।

इन्होंने भी दिया संबोधन

सभा को केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, विधायक अजय विश्नोई, विनोद गोंटिया आदि ने भी संबोधित किया। इस मौके पर सभी विधायक व संगठन पदाधिकारी मौजूद रहे।

नागरिकता प्राप्त करने वालों का सम्मान

इस अवसर पर शरणार्थी परिवारों के सिंधी समाज से नागरिकता प्राप्त करने वाले अजीत कुमार, करमचंद,गोपाल मामा और श्रीचंद का सम्मान किया गया।

डुमना विमानतल पर आगवानी

गृहमंत्री एवं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का आगमन डुमना विमानतल पर 2.45 बजे हुआ जहां प्रदेश अध्यक्ष सांसद राकेश सिंह, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान,प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद गोंटिया, आशीष दुबे, एसके मुद्दीन ने उनकी आगवानी कर स्वागत किया।

जनता की इच्छा समझ लो कांग्रेस वालो, वर्ना साफ हो जाओगे

श्री शाह ने कहा कि पाकिस्तान में इन हिंदू,सिख,सिंधी भाइयों पर अमानवीय अत्याचार हुए लेकिन मानवाधिकारों की दुहाई देने वाले ठेकेदारों को इन शरणार्थी भाइयों पर हुए अत्याचार नहीं दिखते। क्या इनके मानवाधिकार नहीं हैं।अभी हाल ही में पवित्र धार्मिक स्थल ननकाना साहिब पर हमला हुआ। तोड़फ ोड़ की गई। वहां के ग्रंथी की बेटी जगजीत कौर को हमलावर उठा कर ले गए। क्या ये अत्याचार नहीं है। मैं कांग्रेस वालों से कहना चाहता हूं कि जनता की इच्छा की समझिए, वर्ना साफ हो जाओगे।

संविधान के खिलाफ काम कर रहे सीएम

इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने अपने उदबोधन में कहा कि मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि सीएए को प्रदेश में लागू नहीं होने देंगे। वे ऐसा कर संविधान का विरोध कर रहे हैं जिसकी उन्होंने शपथ ली है। वे पहले मुख्यमंत्री हैं जो अपने मंत्रियों के साथ रैली निकालते हैं। हम उन्हें बताना चाहते हैं कि सीएए 12 जनवरी से कानून बन चुका है और हम इसे लागू करवा कर रहेंगे। उन्होंने धारा 370,35ए,राम मंदिर,सर्जिकल स्ट्राइक से लेकर नागरिकता संशोधन अधिनियम लागू करवाने पर राष्ट्रीय अध्यक्ष का अभिनंदन करने जनसमूह से कई बार हाथ उठवाकर करतल ध्वनि व नारों से स्वागत करवाया।