डीआईसी एक्जीबिशन में लहराया रादुविवि का परचम

डीआईसी एक्जीबिशन में लहराया रादुविवि का परचम

जबलपुर। स्पा, नई दिल्ली एवं आईआईटी, नई दिल्ली के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित एक दिवसीय प्रदर्शनी में पूरे देश के डीआईसी हब और स्पोक्स ने अपनी सहभागिता दर्ज कराई। जिसमें रादुविवि डीआईसी ने भी अपनी तीन स्पोक्स इंस्टीट्यूट 1. इंडियन इंस्टिट्यूट आॅफ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी डिजाइन एंड मैन्यु फैक्चरिंग, जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय, सेंट अलॉयसियस कॉलेज एंड सेंट अलॉयसियस इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्नोलॉजी के साथ अपनी प्रतिभागिता दर्ज कराते हुए विभिन्न प्रोटोटाइप्स एवं पेटेंट के लिए मूल्यांकन समिति द्वारा भरपूर सराहना हासिल की। डीआईसी की इस उपलब्धि के लिए कुलपति प्रो. कपिल देव मिश्र एवं कुलसचिव प्रो. कमलेश मिश्र ने प्रो. संधु सहित उनकी पूरी टीम को बधाई देते हुए कहा कि इस प्रशंसनीय कार्य से विश्वविद्यालय का गौरव बढ़ा है।

ये मॉडल बनाए

रादुविवि डीआईसी के निदेशक प्रो. एसएस संधु ने बताया कि हमारे द्वारा तैयार प्रोटोटाइप जैसे सब्जियों के स्टार्च से बने बायोप्लास्टिक, पौधों से बिजली का उत्पादन, मशरूम और भूसा से बना पैकेजिंग मैटेरियल, मशरूम पेपर, स्टोन पेपर वेट, नर्मदा नदी में विसर्जित हुए फूलों से हर्बल धूपबत्ती, हर्बल साबुन, मिनी सेंट्रीμयूज, बायोपेस्टिसाइड, केले और गन्ने के वेस्ट मटेरियल से बना मीडिया, संरक्षक (माइकोराइजा बायो फर्टिलाइजर) आदि की प्रदर्शनी लगाई गई। इस अवसर पर स्पोक्स द्वारा हर्बल अगरबत्ती, काफी स्टिक, रूम र्फ्रेशनर, नेचुरल कलर, बार कोडिंग सिस्टम आदि की भी प्रदर्शनी की गई।

ये रहे उपस्थित

इस एक दिवसीय प्रदर्शनी में समन्वयक प्रो. एलपीएस राजपूत, डॉ. ममता गोखले,डीआईसी डॉ. सुनील कुमार, डॉ. पूनम वर्मा, मृदुल शाक्य, अतीत जावरे, लोकनाथ देशमुख, मनोज कुमार मरावी, राजेश कुमार, हरि प्रसाद प्रजापति, दीपराज शुक्ला और अमन भारती उपस्थित रहे।