वर्ल्ड हेल्थ डे 2019 : लंबी उम्र तक रहना है स्वस्थ, तो जीवनशैली में शामिल करें ये 7 आदतें 

वर्ल्ड हेल्थ डे 2019 : लंबी उम्र तक रहना है स्वस्थ, तो जीवनशैली में शामिल करें ये 7 आदतें 

विश्व स्वास्थ दिवस हर साल 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ संघठन (WHO) की नीव रखे जाने के दिन के प्रतीक के रुप में मनाया जाता है । विश्व स्वास्थ संघठन (WHO) की नींव आज ही के दिन यानी 7 अप्रैल 1948 को जिनेवा, स्विट्ज़रलैंड में इस उद्देश्य से रखी गयी थी ताकि एक ऐसी दुनिया का निर्माण हो सके जहाँ सभी को बिना किसी भेदभाव के सबसे उच्च स्तर की स्वास्थ सेवा बिना किसी आर्थिक परेशानी के मिल सके ।

रविवार को विश्व स्वास्थ संघठन ने कहा की - हालाकिं हमने हाल के वर्षों में स्वास्थ क्षेत्र में मृत्यु के प्रमुख कारणों और बीमारियों के खिलाफ काफी प्रगति की है परन्तु अभी भी हमें बहुत कुछ करना बाकी है ।

आज भी आवश्यक स्वास्थ सेवाओं की पहुंच दुनिया की आधी आबादी  तक नहीं है । आज भी लाखों महिलाएं बिना किसी विशेषज्ञ की देखरेख के बच्चो को जन्म देती हैं, आज भी लाखों बच्चों का जरुरी टीकाकरण नहीं हो पाता और लाखों लोग HIV , TB और मलेरिया जैसी घातक बीमारी से संक्रमित होते / मारे जाते हैं ।

हालांकि, अपनी जीवनशैली में कुछ आदतों को शामिल कर हम कई तरह की बीमारियों और संक्रमण को दूर रख सकतें है। आईये जानते हैं क्या है ये आदतें 

  1. रोजाना थोड़ी देर जॉगिंग करें ।
  2. योग को अपनी दैनिक दिनचर्या का हिस्सा बनाए, यह शारीरिक ही नहीं मानसिक स्वास्थ के लिए भी बहुत उपयोगी है ।
  3. एक सक्रिय और सकारात्मक जीवन शैली अपनाएं, अपने अंदर आलस को हावी न होने दें ।
  4. पर्याप्त नींद लें, रोज़ाना कम से कम 7-8 घंटे  ।
  5. संतुलित आहार लें, ना बहुत हाई कैलोरी आहार लें ना जल्दी वजन घटने के फेर में ज़रूरी पोषक तत्वों से अपने आप को वंचित रखे ।
  6. अपने शरीर के आकार को नियंत्रित करने पर काम करें। खुद को भूखा रखना आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। आपके दिमाग को सक्रिय रखने के लिए कार्बोहाइड्रेट्स की आवश्यकता होती है।
  7. मोटापा, मधुमेह, उच्च रक्तचाप और हृदय रोग को रोकने के लिए नमक और चीनी का सेवन कम करें। प्रति घंटे तरल पदार्थ का सेवन करके अपने शरीर को अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रखें ।व्रत में क्‍यों खाया जाता है सेंधा नमक. जानिए इसका कारण

व्रत में क्‍यों खाया जाता है सेंधा नमक. जानिए इसका कारण