इटली से लौटा युवक कोरोना वायरस संक्रमण के संदेह में अस्पताल में भर्ती, रक्त नमूने भोपाल भेजे

इटली से लौटा युवक कोरोना वायरस संक्रमण के संदेह में अस्पताल में भर्ती, रक्त नमूने भोपाल भेजे

सर्दी-खांसी की समस्या थी, 14 कोरोना संदिग्ध लोगों की रिपोर्ट आई निगेटिव, एक का इंतजार
इटली से हाल ही में भारत लौटे 24 वर्षीय युवक को कोरोना वायरस संक्रमण के संदेह में बुधवार को यहां एक सरकारी अस्पताल में भर्ती किया गया। सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जड़िया ने बताया कि 24 वर्षीय युवक सात मार्च को इटली से दिल्ली आया था। उसे सर्दी-खांसी की समस्या है। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण के संदिग्ध मरीज को एक सरकारी अस्पताल के पृथक वार्ड में डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है। उसके रक्त और स्वाब के नमूने जांच के लिए भोपाल एम्स भेजे हैं। 
  तीन की रिपोर्ट निगेटिव- इस बीच, कोरोना वायरस संक्रमण के संदेह में शहर के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती तीन लोगों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आयी है।  डॉ. जड़िया ने बताया कि इनमें अमेरिका से भारत लौटी 34 वर्षीय महिला और 39 वर्षीय पुरुष के साथ मलेशिया से भारत लौटा 30 वर्षीय पुरुष शामिल हैं। उन्होंने बताया कि पिछले 40 दिन में इंदौर से कुल 15 लोगों के नमूने प्रयोगशाला जांच के लिये भेजे गए हैं। इनमें से 14 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आयी है, जबकि एक व्यक्ति की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। 
कोरोना के खौफ से आईआईएम इंदौर का दीक्षांत समारोह स्थगित
इंदौर। कोरोना वायरस के खतरे के कारण इंदौर के भारतीय प्रबंध संस्थान (आईआईएम) ने अपना वार्षिक दीक्षांत समारोह स्थगित कर दिया है। यह समारोह 24 मार्च से शुरू होकर दो दिन तक चलना था। आईआईएम इंदौर की एक प्रवक्ता ने बुधवार को बताया, कोरोना वायरस के प्रकोप को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के जारी परामर्श में कहा गया है कि एक स्थान पर बड़ी संख्या में लोगों का जमावड़ा नहीं किया जाए। इसके मद्देनजर हमने अपना वार्षिक दीक्षांत समारोह स्थगित कर दिया है, क्योंकि हमारे लिए अपने संस्थान के लोगों की खैरियत सबसे महत्वपूर्ण है। प्रवक्ता ने बताया कि आईआईएम इंदौर के 24 और 25 मार्च को आयोजित वार्षिक दीक्षांत समारोह में 700 से ज्यादा विद्यार्थियों को उपाधियां प्रदान की जानी थीं। आईआईएम इंदौर के निदेशक प्रोफेसर हिमांशु राय ने कहा, हम हालात पर बराबर नजर रख रहे हैं। आने वाले दिनों में हालात को देखते हुए दीक्षांत समारोह की नई