चीन ने चौथी बार मसूद अजहर को ग्लोबल टेरेरिस्ट घोषित होने से बचाया

चीन ने चौथी बार मसूद अजहर को ग्लोबल टेरेरिस्ट घोषित होने से बचाया

वाशिंगटन। पुलवामा समेत देश में कई हमलों के गुनहगार जैश-ए-मोहम्मद के सरगना आतंकी मसूद अजहर को चीन ने एक बार फिर वैश्विक आतंकी (ग्लोबल टेरेरिस्ट) घोषित होने से बचा लिया। संयुक्त राष्ट्र में चीन ने इस प्रस्ताव के विरोध में अपने वीटो पावर का इस्तेमाल कर ऐसा किया। इस प्रस्ताव के पक्ष में ब्रिटेन, अमेरिका, फ्रांस और जर्मनी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के पक्ष में थे। सीआरपीएफ के 40 जवानों की शहादत का गुनहगार मसूद अजहर फिलहाल पाकिस्तान में है। इस हमले के लिए भारत ने उसे जिम्मेदार ठहराया है। बताते चलें कि सुरक्षा परिषद में चौथी बार चीन ने वीटो का इस्तेमाल कर मसूद अजहर को बचाया है। उसे टेरेरिस्ट घोषित करने के प्रस्ताव पर रोक लगाने के लिए चीन के पास बुधवार रात 12:30 बजे तक का समय था। नई दिल्ली में विदेश मंत्रालय ने इस घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा, 'हम निराश हैं। लेकिन हम सभी उपलब्ध विकल्पों पर काम करते रहेंगे।