14 हजार फीट ऊंची गालवन वैली पर पत्थर, लाठी से झड़प, भारत के कर्नल समेत 20 सैनिक शहीद

 17 Jun 2020 02:22 AM  9

लद्दाख। भारत-चीन सीमा विवाद बड़े तनाव में तब्दील होता जा रहा है। सोमवार रात लद्दाख की गालवन वैली में दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हो गई। इसमें भारत के इन्फैंट्री बटालियन के कमांडिंग आॅफिसर कर्नल संतोष बाबू और दो जवान शहीद हो गए। कर्नल मूल रूप से तेलंगाना के निवासी थे। उनके अलावा जो जवान शहीद हुए उनमें झारखंड के कुंदन ओझा और तमिललाडु के पलनी शामिल हैं। देर रात की मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत के करीब 20 जवान शहीद हुए हैं। हालाकि सेना ने इसकी पुष्टि नहीं की है। उधर, न्यूज एजेंसियों के मुताबिक चीन की तरफ के भी 40 से अधिक सैनिकों की मौत की खबर है। 14 हजार फीट ऊंची गालवन वैली में पत्थर और लाठी से झड़प हुई। झड़प की घटना के बाद से करीब 30 भारतीय लापता हैं। इनमें से ज्यादातर रोड कंस्ट्रक्शन वर्कर्स हैं।

प्रधानमंत्री आवास पर देर रात तक चलीं बैठकें

प्रधानमंत्री आवास पर देर रात तक बैठकों का दौर चला। बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और विदेश मंत्री एस जयशंकर भी मौजूद थे। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गृह मंत्री अमित शाह के साथ चर्चा की।

हिमाचल में सीमा पर अलर्ट, आईटीबीपी, पुलिस तैनात

गालवन में हिंसक झड़प की घटना को देखते हुए हिमाचल प्रदेश में भी चीन के सीमावर्ती क्षेत्रों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। किन्नौर और लाहौल स्पीति के लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एडवाइजरी जारी की गई है। आईटीबीपी के साथ ही पुलिस भी तैनात है।