36,730 करोड़ में निर्मित होंगे 16 नए बांध, पाइप लाइन से होगी सिंचाई

36,730 करोड़ में निर्मित होंगे 16 नए बांध, पाइप लाइन से होगी सिंचाई

भोपाल। जल संसाधन विभाग मध्यप्रदेश में अब जितने भी नए बांध बनाएगा, उनमें नहरों की जरूरत नहीं होगी, बल्कि पाइपलाइन के जरिए खेतों में सिंचाई के लिए पानी पहुंचेगा। इससे सरकार को नहरों के निर्माण के लिए जमीन भू-अर्जन भी नहीं करना पडेगी, बल्कि इससे बचत भी होगी, वहीं इनका उपयोग वह पेयजल के लिए भी कर सकेंगी। विभाग ने ऐसे नए 16 बांधों का प्रस्ताव तैयार किया है, जिनका निर्माण 36,730 करोड़ में किया जाएगा और 11.33 लाख से अधिक हेक्टेयर में सिंचाई होगी। पहले से हुई है शुरूआत तत्कालीन शिवराज सरकार ने इसकी शुरूआत 3866 करोड़ की लागत से बनने वाले मोहनपुरा तथा 3448 करोड़ की लागत से निर्मित किए जा रहे कुंडालिया वृहद सिंचाई परियोजना से की है। मोहनपुरा से जहां एक लाख 34 हजार 208 हेक्टेयर में सिंचाई होगी, वहीं कुंडलिया बांध से एक लाख 25 हजार हेक्टेयर में सिंचाई संभावित है। इन दोनों बांधों से पेयजल के लिए भी पानी प्रदाय किया जाएगा। इनका निर्माण अगले साल तक पूर्ण होने की संभावना है। बढ़ेगा सिंचाई रकबा: वर्तमान में जल संसाधन विभाग के डैमों से 30 लाख हेक्टेयर सिंचाई होती है नए बांध बनने से 40 लाख हेक्टेयर से ज्यादा हो जाएगी।