लाइव पेंटिंग एग्जीबिशन में 25 चित्रकारों ने दिखाया हुनर, 100 पेंटिंग को किया एग्जीबिट

लाइव पेंटिंग एग्जीबिशन में 25 चित्रकारों ने दिखाया हुनर, 100 पेंटिंग को किया एग्जीबिट

रिद्धि-सिद्धि आर्ट स्टूडियो द्वारा दो दिवसीय ‘लाइव पेंटिंग एग्जीबिशन’ का शुक्रवार को स्वराज भवन में शुभारंभ हुआ। इस एग्जीबिशन में कुल 25 चित्रकारों ने करीब 100 पेंटिग्स को प्रदर्शित किया। पहले दिन 15 कलाकारों ने दर्शकों के सामने कैनवास पर विविध रंगों से आकृतियां उकेरकर अपनी प्रतिभा दिखाई। इस अवसर पर आगंतुकों ने उनकी रंगकारी की प्रशंसा की। एग्जीबिशन में आईं पूनम शास्त्री ने रशियन स्कल्पचर आर्ट को लाईं, जिसमें उन्होंने थ्रीडी लुक से तैयार नाइफ के प्रयोग से टेक्सचर आर्ट को डिस्प्ले किया। वहीं अभांशी ताम्रकार ने एक्रेलिक कलर से तैयार गोंड पेंटिंग को एग्जीबिट किया। इसके अलावा हर्ष नामदेव ने लाइव पेंटिंग में रबींद्रनाथ टैगोर के पोर्ट्रेट को उकेरा। वहीं प्रदर्शन में उनकी तीन चारकोल स्केच पेंटिंग्स को डिस्प्ले किया गया है।

बनी-ठनी का दिया लाइव डेमो

अभांशी ताम्रकार का कहना है कि मैं इसमें राजस्थानी की फेमस पेंटिंग बनी-ठनी पेंटिंग का लाइव डेमो दे रही हूं। अभांशी ने एके्रलिक कलर से तैयार गोंड पेंटिंग को एक्जीबिट किया। तो वहीं मिनिएचर फॉर्म में पोस्टर कलर से तैयार राधा- कृष्ण की पेंटिंग भी खास रही, यह पेंटिंग राधा-कृष्ण के मिलन को दर्शाती है।

नाइफ वर्क से तैयार की गई टेक्सचर आर्ट पेंटिंग

पूनम शास्त्री ने बताया कि टेक्सचर पेंटिंग को तैयार होने में करीब एक हफ्ते का समय लगता है। पेंटिंग का मटेरियल घर पर तैयार करते हैं, जिसमें सोडियम बाइकाबोर्नेट, पीओपी, वॉल पुट्टी शामिल है। फिर चाकू की मदद से इसको आकार दिया जाता है।

एक्रेलिक पेंट से बनाई मां दुर्गा और हनुमान जी की पेंटिंग

पेंटिंग आर्टिस्ट वैशाली मालवीय पोर्ट्रेट पेंटिंग की कला को एक कदम और आगे ले जा चुकी हैं और क्रिएटिव पोर्ट्रेट बनाने में महारत रखती हैं। लाइव पेंटिंग में भी उन्होंने दर्शकों के सामने लाइव क्रिएटिव पोर्ट्रेट बनाया। वहीं प्रदर्शनी में उनकी दो चित्रकलाएं प्रदर्शित की गई हैं। एक्रेलिक पेंट से निर्मित एक पेंटिंग में हनुमान जी का चित्रण है, तो वहीं दूसरी पेंटिंग में मां दुर्गा के रूप दर्शन होते हैं।