प्रदेश में करीब 1 लाख ब्यूटी पार्लर, कोरोना ने चौपट कर दिया कारोबार

प्रदेश में करीब 1 लाख ब्यूटी पार्लर, कोरोना ने चौपट कर दिया कारोबार

जबलपुर । कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन लगाया नतीजन इस लॉकडाउन ने पूरे देश की अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया। छोटे-बड़े व्यापारियों के साथ देश का एक तबका ऐसा भी था, जिसको भी कोरोना संक्रमण ने बड़ा झटका दिया है और यह तबका है देश की ब्यूटी इंडस्ट्री, जो कि आज कोरोना काल से चार माह बाद भी उबर नहीं पाया है। प्रदेश में 1 लाख और जिले में करीब 15 सौ ब्यूटी पार्लर संचालित है। कोरोना संक्रमण के कारण ब्यूटी पार्लर संचालक और उससे जुडेÞ लोगों के सामने रोजगार का संकट खड़ा हो गया है। फिल्म इंडस्ट्री के कलाकारों से लेकर वीवीआईपी लोगों की ब्यूटी संवारने वाली ब्यूटी इंडस्ट्री कोरोना संक्रमण पूरी तरह से लॉक हो गई है। मध्यप्रदेश सहित जबलपुर में भी करीब तीन माह के लगे लॉकडाउन में ब्यूटी इंडस्ट्री के लोगों की हालत खराब कर दी है, फर्स्ट फेस का लॉकडाउन जब खुला भी तो सरकार ने ब्यूटी इंडस्ट्री को रियायत नहीं दी। आज ब्यूटी से जुड़े लोगों की हालत बहुत ही दयनीय हो गई है। उन्हे बिजली बिल से लेकर किराया तक देने में खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा रहा हैं। वहीं बेरोजगारी छाने के देशभर की बात की जाए तो ब्यूटी से जुड़े करीब 15 लोग एवं प्रदेश में 3 लोग अभी तक आत्महत्या कर चुके है।

तीन माह बाद शर्तों के साथ मिली परमिशन

लॉकडाउन फर्स्ट फेज में सबसे आखिर में अगर किसी को राहत मिली थी तो वह थी ब्यूटी इंडस्ट्रीज, लॉक डाउन हटने के बाद बाजार खुल गए, तमाम दुकानें खुल गई पर ब्यूटी पार्लर, सैलून स्पा संचालकों को सबसे आखरी में शॉप खोलने को अनुमति मिली,उसमें भी जिला प्रशासन की कई शर्ते थी। बीते 3 माह में ब्यूटी इंडस्ट्री की रौनक पूरी तरह से चली गई है, पार्लर,स्पा,सैलून में सन्नाटा पसरा हुआ है।

ब्यूटी एसोसिएशन ने पीएम और सीएम को किया मेल

कोरोना काल में परेशान ब्यूटी इंडस्ट्री से जुड़े देश भर के संचालकों ने अब प्रधानमंत्री और अपने-अपने राज्यो के मुख्यमंत्री को अपनी समस्या बताने के लिए मेल भी किया है और समस्या बताई है। ये मेल जिले सहित प्रदेश और देश भर के ब्यूटी इंडस्ट्री से जुडेÞ लोगों ने किया है। ब्यूटी इंडस्ट्री से जुड़ी महिलाओं ने बताया कि स्थानीय स्तर में मदद के लिए कलेक्टर से लेकर सांसद तक से मुलाकात की पर ना ही राहत मिली और ना ही रियायत। ऐसे में अब देशभर के ब्यूटी इंडस्ट्री से जुड़े लोग आॅल इंडिया हेयर एंड ब्यूटी एसोसिएशन के बैनर तले देश के प्रधानमंत्री और अपने अपने प्रदेश के मुख्यमंत्रियों को मिलकर अपनी समस्या को रखा है लेकिन समाधान नहीं हुआ है।

ब्यूटी पार्लर आने से डर रहे लोग

कुछ महीनें पहले जो लोग बिना मेकअप के नहीं रह पाते थे, उन पर भी कोरोना से लगे लॉकडाउन का असर देखने को मिल रहा है। कोरोना ने इनकी ब्यूटी को भी अपने-अपने घरों में लॉक कर दिया था, ऐसे में जब तीन माह बाद लॉकडाउन खुला तो भी ब्यूटी पार्लर में वो रौनक नहीं आई थी, जो कि पहले रहा करती थी। हर किसी को कोरोना वायरस का इतना डर है कि लोग अब अपने आप को संवारना भी नहीं चाह रहे हैं।