श्रद्धा के बॉडी पार्ट्स फेंकने जाता नजर आया आफताब

श्रद्धा के बॉडी पार्ट्स फेंकने जाता नजर आया आफताब

नई दिल्ली अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वॉकर की बेरहमी से हत्या करने के आरोप में पुलिस हिरासत में बंद आफताब अमीन पूनावाला का एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, जिसमें उसे बैग लेकर घूमते देखा जा सकता है। यह 18 अक्टूबर का वीडियो है। इसमें आरोपी आफताब के हाथ में एक बैग दिखाई दे रहा है। पुलिस को शक है वह श्रद्धा के कटे हुए शव के बचे टुकड़ों को फेंकने गया था। हालांकि पुलिस सीसीटीवी की सत्यता की जांच कर रही है। यह इस दर्दनाक हत्याकांड में सामने आने वाला पहला सीसीटीवी फुटेज है। आफताब ने श्रद्धा की हत्या के दो दिन बाद शव के टुकड़े किए थे। आफताब ने कुछ टुकड़े उसी दिन शाम 4:30 से 7:30 बजे के बीच जंगल में फेंक दिया था। जबकि सिर, धड़ और हाथ-पैरों की उंगलियों को फ्रिज में रखा था। इन टुकड़ों को 18 अक्टूबर को जंगल में फेंका था। इसका सीसीटीवी पुलिस को मिल गया है। इसमें वह बैग लटकाए हुए दिख रहा है। आफताब के μलैट से एक धारदार वस्तु बरामद की गई है, संदेह है कि आफताब ने इसका इस्तेमाल अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वालकर की हत्या के बाद उसके शव को टुकड़ों में विभक्त करने के लिए किया हो सकता है।

हिमाचल के तोष पहुंची पुलिस की एक टीम

दिल्ली पुलिस की एक टीम हिमाचल प्रदेश की पार्वती घाटी के तोष गांव में पहुंच गई है। यहां भी पुलिस टीम स्थानीय लोगों के साथ पूछताछ करेगी। पुलिस मुख्यत: तीन सबूत ढूंढ़ रही है, जिनमें मोबाइल, हथियार और श्रद्धा के कपड़े शामिल हैं।

गुरुग्राम से खाली हाथ लौटी पुलिस:आफताब को लेकर दिल्ली पुलिस गुरुग्राम के डीएलएफ फेज 2 में पहुंची थी, जहां मेटल डिटेक्टर के जरिए छानबीन की। जंगल, μलैट, खाली प्लाट सभी जगहों को खंगालने के बाद दिल्ली पुलिस वापस खाली लौट आई है। इसके अलावा महरौली के जंगलों के साथ ही गुरुग्राम, हिमाचल और उत्तराखंड के जंगलों में सबूतों की तलाश में जुटी हुई है।

आफताब और श्रद्धा के कपड़ों को कब्जे में लिया

दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने आफताब के आवास से सभी कपड़े अपने कब्जे में ले लिए हैं और उन्हें फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा जाएगा। जांचकर्ताओं को वे कपड़े नहीं मिले हैं, जो श्रद्धा और पूनावाला ने 18 मई को पहने थे, जिस दिन वारदात को अंजाम दिया गया था। दिल्ली पुलिस को अबतक श्रद्धा के शरीर की 13 हड्डियां मिल चुकी हैं। हालांकि, पुलिस को अभी तक श्रद्धा का सिर नहीं मिला है और न ही उसका मोबाइल फोन बरामद हुआ है। इस बीच पुलिस ने राहुल राय और गॉडविन के रूप में दो गवाहों की पहचान की थी, जिनके बयान दर्ज किए गए हैं।

वसई में हिंदू-मुस्लिम जोड़े का रिसेप्शन करना पड़ा रद्द

महाराष्ट्र के वसई शहर में स्थानीय संगठनों के विरोध के बाद एक नवविवाहित हिंदू-मुस्लिम जोड़े की शादी का रिसेप्शन रद्द कर दिया गया है। दिल्ली में महरौली हत्याकांड की पीड़िता श्रद्धा वालकर (27) पालघर जिले के वसई शहर की रहने वाली थी। एक समाचार चैनल के संपादक ने शुक्रवार सुबह स्वागत समारोह के आमंत्रण की एक तस्वीर ट्वीट की और हैशटैग लवजिहाद और आतंकवादी कृत्य का इस्तेमाल करते हुए इसे वालकर हत्याकांड से जोड़ दिया। नवविवाहित हिंदू-मुस्लिम जोड़े की शादी का रिसेप्शन रविवार शाम को वसई पश्चिम क्षेत्र के एक सभागार में होना था।