केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा- पहलवानों के आरोपों पर मैरीकॉम की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी

केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा- पहलवानों के आरोपों पर मैरीकॉम की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी

जबलपुर। कुश्ती संघ पर कुछ पूर्व तो कुछ वर्तमान खिलाड़ियों ने आरोप लगाया है। जिसको लेकर हमने उनसे 11 घंटे तक लगातार बातचीत की है जिसमें सभी पक्षों को सुनने के बाद एक ओवर साइट कमेटी बनाई जा रही है। इस कमेटी की अध्यक्षता मैरीकॉम करेगी। साथ ही अन्य और खिलाड़ियों को इस कमेटी में रखा जा रहा है। ये बात सोमवार की शाम साढ़े 3 बजे केन्द्र सरकार के सूचना एवं प्रसारण तथा युवा मामलों एवं खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने रानीताल स्पोर्टस कॉम्लेक्स में चल रहें सांसद खेल महोत्सव के समापन समारोह में अनौपचारिक पत्रकारवार्ता में कहीं। रानीताल स्पोर्टस कॉम्पलेक्स में सांसद खेल महोत्सव का सोमवार की शाम को समापन हुआ। जिसमें केन्द्रीय खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर में शिरक्त दी। इस दौरान केन्द्रीय मंत्री ठाकुर ने दीप प्रज्जलित करके कार्यक्रम की शुरूआत की। जिसके बाद विभिन्न आयोजन के पश्चात अंत में पुरुस्कार वितरण किया गया। तभी पत्रकारों से एक अनौपचारिक बातचीत के दौरान उन्होंने पहले तो सांसद खेल महोत्सव की भूरी-भूरी प्रशंसा की उसके बाद उन्होंने कहां कि कुश्ती संघ पर कुछ पूर्व तो कुछ वर्तमान खिलाड़ियों ने आरोप लगाया है। जिसको लेकर एक कमेटी बनाई जा रही है। जिसकी अध्यक्षता मैरीकॉम करेगी।

कमेटी में ये खिलाड़ी शामिल होंगे

ओवर साइट कमेटी की अध्यक्षता मैरीकॉम करेगी साथ ही इस कमेटी में योगेश्वर दत्त, त्रप्ती मुदंडे, पूर्व सीईओ कैप्टन रामगोपाल, राधा श्रीमन पूर्व ईडी होगें। इस कमेटी में पांच सदस्यी लोग शामिल होगें।

डब्ल्यूएफआई के हर कार्य से दूर रहेंगे

कुश्ती संघ के अध्यक्ष ब्रजभूषण शरण सिंह को वर्तमान में केन्द्रीय खेल मंत्री ठाकुर ने कहा कि उन्हें डब्ल्यूएफआई के हर कार्य से दूर रखा जायेगा। ताकि जांच निष्पक्ष हो सके। फिलहाल ब्रजभूषण शरण सिंह अभी संध से दूर रहने को कहां गया है।

खेलों को बजट बढ़ाया गया

पहले की सरकार खेलों के लिये कोई खास बजट नहीं रखती थी लेकिन वर्तमान सरकार ने खेलों के लिये 2 सौ करोड़ रुपये का बजट रखा है ताकि खिलाड़ियों को किसी प्रकार की असुविधा न हो। आज खेल के लिये एक अच्छा बजट है।

एक माह में आ जायेगी रिपोर्ट

कुश्ती संघ की जांच के लिये जो ओवर साइट कमेटी बनाई गई है उसमें पांच सदस्य अपनी रिपोर्ट एक माह में देगें। वे सभी पक्षों को सुनने के बाद अपनी रिपोर्ट पेश करेगें। फिलहाल कमेटी बना दी गई है।