भोपाल की जामा मस्जिद का होगा सर्वे

भोपाल की जामा मस्जिद का होगा सर्वे

भोपाल। वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद का विवाद अभी थमा नहीं कि इस बीच भोपाल की जामा मस्जिद का मामला गर्माने लगा है। प्रदेश की पर्यटन-अध्यात्म व संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने इसका सर्वे कराने का संकेत दिया है। उन्होंने कहा कि हमारे पास इस तरह की मांग आएगी तो सर्वे कराएंगे। सर्वे में जो निकलकर सामने आएगा, उसे मान्य किया जाएगा। मंत्री ठाकुर ने यह भी स्पष्ट कर दिया कि अभी ऐसी कोई मांग सरकार के पास नहीं है। इधर, भोपाल की सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने भी मस्जिद का सर्वे कराने की मांग की है। जामा मस्जिद के मामले में संस्कृति बचाओ मंच के चंद्रशेखर तिवारी ने भोपाल की बेगम की जीवनी हयाते कुदसी का हवाला देते हुए वहां शिव मंदिर होने का दावा किया है। वहीं,उषा ठाकुर ने रायसेन और विदिशा के शिव मंदिरों में पूजन की इजाजत दिए जाने को लेकर एएसआई को पत्र भी लिखा है।

ज्ञानवापी केस : उपासना स्थल कानून को चुनौती

नई दिल्ली। ज्ञानवापी मामले में प्लेसेस आफ वर्शिप एक्ट 1991 की कुछ धाराओं की संवैधानिक वैधता को चुनौती दी गई है। इस एक्ट की धाराओं को मौलिक अधिकारों के खिलाफ बताया गया है। याचिका धार्मिक नेता स्वामी जितेंद्रानंद सरस्वती ने दाखिल की है। जितेंद्रानंद ने याचिका में अधिनियम की धारा 2, 3, 4 की संवैधानिक वैधता को चुनौती दी। उनका कहना है, ये धाराएं संविधान के अनुच्छेद 14, 15, 21, 25, 26, 29 का उल्लंघन करती हैं। साथ ही धर्मनिरपेक्षता के सिद्धांतों का भी उल्लंघन करती हैं।