क्लाइम्बिंग के लिए ब्रीदिंग एक्सरसाइज और फिटनेस जरूरी

क्लाइम्बिंग के लिए ब्रीदिंग एक्सरसाइज और फिटनेस जरूरी

सभी को अपने जीवन में कम से कम एक बार पहाड़ पर चढ़ना चाहिए। यह एक अद्भुत अनुभव होता है। नई ऊंचाइयों तक पहुंचने के लिए एक संकंल्प की जरूरत होती है। आप सिर्फ एक पहाड़ पर चढ़ सकते हैं, और परिवार और दोस्तों के लिए गर्व के अधिकार प्राप्त कर सकते हैं। 1 अगस्त को नेशनल माउंटेन क्लाइम्बिंग डे मनाया जाता है। यह न्यूयॉर्क राज्य के एडिरोंडैक पर्वत के 46 उच्च चोटियों पर सफलतापूर्वक चढ़ाई करने के लिए बॉबी मैथ्यूज और उनके दोस्त जोश मैडिगन के सम्मान में स्थापित किया गया था। आईएम भोपाल से शहर की माउंटेनियर भावना डेहरिया और मेघा परमार ने शेयर किए अपने यूचर प्लान्स और जरूरी टिप्स।

मेघा परमार,माउंटेनियर

जब लॉकडाउन लगा शुरू-शुरू में तो आलस होता था। मुझे लगा की अगर लंबी तैयारी करनी है तो उसके लिए लगातार प्रैक्टिस भी करना होगी। अपने आप को फिट रखने के लिए मैंने रोजाना सुबह जॉगिंग शुरू की। साथ ही बॉडी को क्लाइंबिंग के लिए फिट रखने के लिए योग भी करती हूं। यह मेरी लंग कैपेसिटी को बढ़ाने में मदद करता है।

भावना डेहरिया,माउंटेनियर

लॉकडाउन के दौरान मैंने भोपाल में रहकर ही अपने आप को फिट रखने के लिए स्किपिंग और ब्रीदिंग एक्सरसाइज करती रही। अब अपने गांव तामिया आगई हूं जहां रोजाना रनिंग शुरू की है। जो एडवेंचर एक्टिविटी लॉकडाउन के पहले हुआ करती थी वैसा मजा नहीं आरहा है , लेकिन रेगुलर एक्सरसाइज जरुरी है।

आफ्टर लॉकडाउन : लॉकडाउन खत्म होने के बाद मैंने अगस्त में रूस के माउंट एल्ब्रुस पर क्लाइम्बिंग करना है । लेकिन अभी के हालात को देखते हुए जब भी लॉकडाउन हटेगा सबसे पहले यही जाउंगी। साथ ही इंडिया में कंचनजंघा पर्वत पर भी क्लाइम्बिंग करनी है जिसकी ऊंचाई 8 हजार 586 मीटर है।