उरी अटैक दोहराने की साजिश, 2 आतंकी ढेर, 4 जवान शहीद

उरी अटैक दोहराने की साजिश, 2 आतंकी ढेर, 4 जवान शहीद

राजोरी। जम्मू कश्मीर में स्वतंत्रता दिवस से पहले बड़ी साजिश नाकाम हुई है। जम्मू संभाग के परगल में उरी हमले जैसी साजिश को सुरक्षाबलों ने विफल कर दिया है। आर्मी कैंप में घुसने की कोशिश कर रहे दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है। हालांकि इस हमले में चार जवान शहीद हो गए हैं। राजोरी के दारहाल इलाके के परगल में सेना के कैंप में आतंकियों ने घुसने की कोशिश की थी। इस पर अलर्ट जवानों ने संदिग्धों को देख फायरिंग शुरू कर दी। आतंकियों ने भी गोली चलाई। दोनों तरफ से हुई फायरिंग में दो दहशतगर्द मारे गए हैं। इस हमले में सूबेदार राजेंद्र प्रसाद (राजस्थान के झुंझुनूं), राइफलमैन मनोज कुमार (हरियाणा के फरीदाबाद) और राइफलमैन लक्ष्मणन डी (तमिलनाडु के मदुरै) और राइफलमैन निशांत मलिक शहीद हो गए। फिलहाल सर्च आपरेशन देर रात जारी रहा। इससे पहले बुधवार को मध्य कश्मीर के बडगाम जिले में लगभग 12 घंटे चले आपरेशन में सुरक्षाबलों ने लतीफ राथर समेत लश्कर-ए-ताइबा के 3 आतंकवादियों को मार गिराया। लतीफ ने ही कश्मीरी पंडित राहुल भट और अमरीन भट की हत्या की थी।

पिछले एक सप्ताह से आतंकी शिविर के पास डाले थे डेरा

सूत्रों के अनुसार अभी तक केवल इतना पता चला कि ये आतंकवादी एक सप्ताह से अधिक समय से पास के शिविर में रह रहे थे और उन्होंने पूरी तौर से रैकी की है। स्वतंत्रता दिवस के चार दिन पहले किया गया यह हमला करीब तीन साल के अंतराल के बाद केंद्रशासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में फिदायीन (आत्मघाती हमलावरों) की वापसी का संकेत है।

बुरे मंसूबों से कड़े तरीके से निपटना होगा: सिन्हा

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने सैन्य शिविर पर हुए आतंकवादी हमले की निंदा की और आतंकवादियों व उनका साथ देने वालों से कड़े तरीके से निपटने का संकल्प जताया। सिन्हा ने ट्वीट कर कहा कि राजौरी में हुए आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा करता हूं। बहादुर सैनिकों को मेरा सलाम जिन्होंने अपने प्राण न्यौछावर कर दिए। हमले में शहीद हुए वीरों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना हैं। हमें आतंकवादियों और उनका साथ देने वालों के बुरे मंसूबों से कड़े तरीके से निपटना होगा।

पुलवामा में 30 किलो आईईडी मिली

उधर, दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में बुधवार को सुरक्षाबलों ने 30 किलो की आईईडी बरामद कर स्वतंत्रता दिवस से पहले बड़ी आतंकी साजिश को नाकाम कर दिया। यह आईईडी सर्कुलर रोड पर टहाब क्रॉसिंग के पास लगाई गई थी। बाद में इसे बम निरोधक दस्ते को बुलाकर नष्ट कर दिया गया।

2016 में उरी अटैक हुआ था, 19 जवान हुए थे शहीद

साल 2016 में जम्मू कश्मीर के उरी में जैश के 4 आतंकियों ने आर्मी हेडक्वार्टर पर हमला किया था। हमले में 19 जवान शहीद हो गए थे, जबकि करीब 30 जवान घायल हुए थे। हालांकि जवाबी कार्रवाई में चारों आतंकी मारे गए। वहीं, भारत ने भी पीओके में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था।