प्रदेश में 7.52 लाख लोगों की हुई कोरोना टेस्टिंग, सिर्फ 4 प्रतिशत पॉजिटिव मिले

प्रदेश में 7.52 लाख लोगों की हुई कोरोना टेस्टिंग, सिर्फ 4 प्रतिशत पॉजिटिव मिले

भोपाल। मन की बात कार्यक्रम के जरिए पीएम नरेन्द्र मोदी ने देश में कोरोना की जांच के लिए सैंपलिंग बढ़ाए जाने की बात कही है, लेकिन मध्यप्रदेश की बात करें तो यहां जनसंख्या के हिसाब से सैंपलिंग एक प्रतिशत भी नहीं हो सकी है, जबकि दूसरी ओर अब तक हुई सैंपलिंग में 4 से 5 फीसदी मरीज पॉजिटिव मिल रहे हैं। ऐसे में जिस तरह से प्रदेश में कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं उस हिसाब से सरकार के सामने कोरोना पर कंट्रोल करना एक बड़ी चुनौती सामने खड़ी हो गई है। जनगणना 2011 के मुताबिक प्रदेश की जनसंख्या 7 करोड़ 26 लाख से ज्यादा है और अब तक प्रदेश में 7 लाख 52 हजार 924 सैंपलिग हुई है। इस तरह महज 1.08 फीसदी लोगों की ही सैंपलिंग की गई। वहीं जितने सैंपल लिए गए हैं, उनमें 30,968 पॉजिटिव मरीज मिले हैं, जो सैंपलिंग के हिसाब से 4 फीसदी है। वहीं मौतों की बात करें तो अब तक 857 मरीजों की मौत हो चुकी हैं, जो पॉजिटिव मरीजों में 2.77 फीसदी है।

मप्र में दो सप्ताह में मिले 5.22फीसदी पॉजिटिव

मध्यप्रदेश में पिछले दो सप्ताह में कोरोना के मामलों में काफी इजाफा हुआ है। 14 जुलाई से लेकर अब तक 14 दिनों में 1 लाख 89 हजार 959 लोगां के सैंपल लिए गए, जिनमें से 10 हजार 383 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव निकली है, जबकि इस दौरान ढाई हजार से ज्यादा सैंपल रिजेक्ट भी हुई है। इस हिसाब से सैंपल के आधार पर औसतन 5.4 फीसदी मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव निकली है। इधर गुरुवार को प्रदेश में 834 नए कोरोना मरीज मिले, वहीं गुरुवार को प्रदेश में 13 लोगों की कोरोना से मौत हो गई।

देश में पिछले 10 दिन में बढ़े 4.60 लाख मरीज, आंकड़ा 16 लाख के पार पहुंचा

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस के आंकड़े तेजी से बढ़ रहे हैं। हालांकि इन सबके बीच राहत की खबर ये है कि भारत में रिकवरी रेट 64.44 प्रतिशत है। वहीं दूसरी ओर पिछले 24 घंटे में 32,383 नए मामले सामने आए हैं। साथ ही कोरोना मरीजों की संख्या 16,16,767 हो गई है। वही कोरोना संक्रमण से अब तक 35,374 मरीजों की कोरोना वायरस मौत हुई है। पिछले 10 दिनों में ही पूरे देश में 4,61,576 कोरोना संक्रमण के मामले रिपोर्ट हुए। भारत में सामने आए कुल कोरोना संक्रमित मरीजों का 29.40 फीसदी है। वहीं पिछले दस दिनों में 7,500 से ज्यादा मरीजों की इस संक्रमण के चलते मौत हो गई है।

भारत की एक वैक्सीन पहले तो दूसरी दूसरे चरण में

भारत में वैक्सीन की स्थिति पर स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा, भारत में दो वैक्सीन हैं, दोनों के पहले और दूसरे चरण के क्लिनिकल ट्रायल शुरू हो गए हैं। पहली वैक्सीन का ट्रायल आठ स्थानों पर 1150 लोगों पर हो रहा है और दूसरी वैक्सीन का ट्रायल पांच स्थानों पर 1000 लोगों पर हो रहा है।