प्रदेश के स्कूली बच्चों को दी जाएगी गीता-रामायण की शिक्षा : सीएम

प्रदेश के स्कूली बच्चों को दी जाएगी गीता-रामायण की शिक्षा : सीएम

भोपाल। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया है कि मप्र में स्कूली बच्चों को गीता का सार, रामचरित मानस, वेद- पुराण और रामायण के प्रेरक प्रसंगों की शिक्षा दी जाएगी। ये सब हमारे अनमोल ग्रंथ हैं इनमें मनुष्य को नैतिक और संपूर्ण बनाने की क्षमता है। उन्होंने कहा कि आजादी का श्रेय केवल एक खानदान को दिया गया, जबकि इस लड़ाई में नेताजी सुभाष चंद्र बोस, खुदीराम बोस, दुर्गा भाभी, सरदार पटेल सहित कई लोगों ने अपना योगदान दिया। आरएसएस के आनुषांगिक संगठन विद्या भारती के ‘सुघोष दर्शन’ कार्यक्रम में सीएम ने रामचरित मानस, रामायण आदि ग्रंथों की आलोचना करने वालों को करारा जवाब दिया। कहा- ऐसे लोग, जो महापुरुषों का अपमान करते हैं, उनको सहन नहीं किया जाएगा। इस मौके पर संघ के पथ संचलन भी निकाला गया। उन्होंने कहा कि राम के बिना यह देश जाना नहीं जाता, राम हमारे रोम-रोम में बसे हैं। वह हमारी पहचान हैं। सीएम ने स्पष्ट किया कि मैं मुख्यमंत्री होने के नाते भी कह रहा हूं। हम तो शासकीय विद्यालयों में भी देंगे।