सस्ते पेट्रोल-डीजल का असर, एमपी बॉर्डर के जिलों में डाउनफॉल पर पंप

सस्ते पेट्रोल-डीजल का असर, एमपी बॉर्डर के जिलों में डाउनफॉल पर पंप

भोपाल। केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल के दामों में जो एक्साइज ड्यूटी में कमी की गई है, उसका असर मप्र के सीमावर्ती जिलों में नजर आने लगा है। बमुश्किल अपना व्यापार करने वाले पेट्रोल पंप संचालकों को अब ग्राहकों की कमी से जूझना पड़ रहा है, क्योंकि प्रदेश के चारों तरफ स्थित राज्यों में पेट्रोल और डीजल की कीमतें मध्यप्रदेश से कम हो गई हैं। मप्र से गुजरने वाले भारी वाहन अन्य राज्यों से डीजल लेते हैं, जिसके चलते प्रदेश के सीमावर्ती जिलों के पंपों पर बिक्री घट गई है। एक्साइज ड्यूटी घटाए जाने के पहले से ही उत्तरप्रदेश, गुजरात और छत्तीसगढ़ में पेट्रोल और डीजल की कीमतें मध्यप्रदेश से कम थीं। शायद यही वजह है कि मप्र और यूपी की सीमा से लगे सागर, दतिया, सिंगरौली, गुना, रीवा, सीधी, छतरपुर के साथ सतना, पन्ना और भिंड के कई पेट्रोल पंप बंद हो चुके हैं। यदि प्रदेश सरकार ने वैट कम नहीं किया तो संभावना है कि इन जिलों में बचे हुए पेट्रोल संचालक भी अपने पंप बंद कर दें। इन पंप के बंद होने की सबसे बड़ी वजह मप्र और उत्तर प्रदेश में पेट्रोल और डीजल के दामों में बड़ा अंतर होना है। यूपी में पेट्रोल 96.55 रुपए और डीजल 89. 74 रुपए लीटर मिल रहा है।

ऑफर, स्कीम्स से बेच पा रहे पेट्रोल

मप्र के सीमावर्ती जिलों के पंप मालिक अभी अपनी सेल अधिक करने के लिए स्कीम भी चला रहे हैं। मगर अब उनका घाटा कम होने की कोई संभावना नहीं दिख रही, क्योंकि प्रदेश के वाणिज्यिक कर मंत्री जगदीश देवड़ा साफ कर चुके हैं कि फिलहाल मध्यप्रदेश में वैट कम नहीं हो रहा है। एक पेट्रोल पंप संचालक ने कहा कि अब लगने लगा है कि पंप बंद कर के कोई और कारोबार किया जाए। हालांकि, केंद्र द्वारा एक्साइज ड्यूटी कम करने के बाद मप्र में कीमतें घटी हैं, लेकिन फिर भी पड़ोसी राज्यों में र्इंधन सस्ता है।

इन जिलों के डीलर्स को हो रहा नुकसान

गुजरात से सटे अलीराजपुर, झाबुआ आदि जिलों में डीलर परेशान हैं। अलीराजपुर में कीमतें कम होने के बाद पेट्रोल 110.51 रुपए और डीजल 95.62 है, जबकि गुजरात में पेट्रोल 96.42 और डीजल 92 .36 रुपए प्रति लीटर है। इसलिए अलीराजपुर जिले से गुजरात जाने वाली करीब- करीब सारी गाड़ियां वहीं से र्इंधन ले रही हैं। ऐसा ही अंतर छत्तीसगढ़ की सीमा के जिलों में है। अनूपपुर, मंडला, शहडोल, डिंडौरी और बालाघाट के लोग भी छत्तीसगढ़ से पेट्रोल भरवा रहे हैं। केंद्र सरकार द्वारा ड्यूटी घटाने के बाद महाराष्ट्र और राजस्थान ने भी वैट घटा दिया है। हालांकि, इसका असर ज्यादा नहीं है, क्योंकि दोनों राज्यों की कीमतों में मप्र से थोड़ा ही अंतर है।

छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले का मनेंद्रगढ़ पेट्रोल पंप हमारे यहां से सिर्फ 10 किमी दूर है। आज की तारीख में वहां पेट्रोल हमारे पंप से 10 रुपए कम और डीजल 1.50 रुपए कम कीमत पर बिकता है। इसलिए लोग यहां सिर्फ इतना ही पेट्रोल-डीजल लेते हैं कि छत्तीसगढ़ पहुंच जाए। ऐसे में हमें बहुत नुकसान उठाना पड़ रहा है। - अभिषेक जायसवाल, पेट्रोल पंप ऑनर बिजौली