दुनिया में हर 11 मिनट में एक महिला की हत्या करीबी ने की

दुनिया में हर 11 मिनट में एक महिला की हत्या करीबी ने की

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने अंतर्राष्ट्रीय महिला हिंसा उन्मूलन दिवस से पहले कहा है कि दुनियाभर में हर 11 मिनट में किसी महिला या लड़की की उसके जीवनसाथी या परिवार वालों द्वारा हत्या कर दी जाती है। उन्होंने कहा, महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ होने वाली हिंसा दुनिया में सबसे तेजी से फैलने वाला मानवाधिकार उल्लंघन है। बता दें, हाल ही में भारत में श्रद्धा हत्याकांड और आयुषि यादव मर्डर की चर्चा हो रही है। पुलिस के मुताबिक मुंबई की रहने वाली श्रद्धा की हत्या उसके की प्रेमी आफताब ने दिल्ली में कर दी। वहीं बेटी के प्रेमसंबंध से नाराज होकर आयुषि के पिता ने गोलीमार को उसकी हत्या कर दी। इसके अलावा ऐसे और भी कई मामले सामने आए हैं, जिसमें पार्टनर, बॉयफे्रंड या पति ने ही अपनी प्रेमिका या पत्नी की जान ले ली है।

सरकारों से अपील, हिंसा रोकने बनाएं एक्शन प्लान

एंटोनियो गुटेरेस ने सरकारों से अपील की है कि वे इसके लिए नेशनल एक्शन प्लान बनाएं। एंटोनियो गुटेरेस ने यह बयान 25 नवंबर को होने वाले एलिमिनेशन आॅफ वायलेंस अगेंस्ट वूमन से पहले कही। हर साल नवंबर की 25 तारीख को अंतरराष्ट्रीय महिला हिंसा उन्मूलन दिवस मनाया जाता है। गुटेरेस ने इस दिवस को लेकर दिए अपने संदेश में ये बातें कहीं। बता दें कि दुनिया के 155 देशों ने घरेलू हिंसा एवं 140 देशों ने कार्यस्थल पर होने वाली हिंसा के खिलाफ कानून बनाए हैं, लेकिन महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ते जा रहे हैं।

अपराध: आॅनलाइन हिंसा की शिकार हो रही महिलाएं

गुटेरेस ने कहा कि महिलाएं आॅनलाइन उत्पीड़न का भी शिकार हो रही हैं। महिलाओं के खिलाफ हेट स्पीच, पोर्नोग्राफी, यौन उत्पीड़न और तस्वीरों से छेड़छाड़ जैसे अपराध आम हो चले हैं। गुटेरेस ने आगे कहा, ऐसे अपराधों की वजह से महिलाओं और लड़कियों का जीवन सीमित हो जाता है और उनके मौलिक अधिकारों और आजादी का हनन होता है। यूएन महासचिव ने दुनियाभर की सरकारों से अपील की है कि महिला अधिकार से जुड़े संगठन और आंदोलनों की फंडिंग में 2026 तक 50 फीसदी की बढ़ोतरी की जाए।