देश के 42% लोगों से हुए फाइनेंशियल फ्रॉड

देश के 42% लोगों से हुए फाइनेंशियल फ्रॉड

नई दिल्ली। देश में पिछले तीन साल में 42 फीसदी उपभोक्ता वित्तीय धोखाधड़ी के शिकार हुए हैं। साथ ही धोखाधड़ी के शिकार में से 74 फीसदी ऐसे हैं जिन्हें उनकी राशि वापस नहीं मिल सकी। संस्था लोकल सर्किल ने इस बारे में सर्वे कराया था। संस्था ने सर्वे में लोगों से पूछा कि क्या वह या उनके परिवार के सदस्य पिछले तीन साल में किसी वित्तीय धोखाधड़ी के शिकार हुए। यह भी जानने की कोशिश की गई कि उनसे किस तरह की धोखाधड़ी हुई। साथ ही उनसे यह भी पता लगाया गया कि क्या धोखाधड़ी के बाद उन्हें पैसे वापस मिले या कोई दूसरा समाधान निकला।

301 जिलों में हुआ सर्वे सर्वे

में 301 जिलों को शामिल किया गया और 32 हजार लोगों से राय ली गई। इसमें 43%पहली श्रेणी के शहर, 27%दूसरी श्रेणी के शहरों से थे। बाकी तीसरी और चौथी श्रेणी के शहरों के लोग शामिल थे। उनके साथ फाइनेंशियल फ्रॉड होने का पूछने पर 54 फीसदी लोगों ने ना कहा। लेकिन 38 फीसदी लोगों का उत्तर हां में था। सर्वे के दूसरे सवाल के जवाब में 10 फीसदी लोगों ने कहा कि धोखाधड़ी के बाद उन्होंने शिकायत दर्ज करवाई। इसके बाद उन्हें अपना पैसा वापस भी मिल सका।