देश में पहली बार टिड्डियों के दल पर हेलीकॉप्टर से होगा हमला

देश में पहली बार टिड्डियों के दल पर हेलीकॉप्टर से होगा हमला

ग्रेटर नोएडा। देश में पहली बार टिड्डी दल को रोकने हेलीकॉप्टर का उपयोग किया जाएगा। मंगलवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने ग्रेटर नोएडा के औद्योगिक सेक्टर उद्योग विहार स्थित हेलीपैड से इस हेलीकॉप्टर को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उड़ान भरने के साथ हेलीकॉप्टर राजस्थान के बाड़मेर चला गया। वहीं से हेलीकॉप्टर टिड्डी दल पर कीटनाशक दवाओं को छिड़काव शुरू करेगा। उन्होंने कहा, पिछले साल के मुकाबले इस साल टिड्डी दल का प्रकोप अधिक होने की संभावना है। इसी को ध्यान में रखकर केंद्र सरकार राज्य सरकारों के साथ समन्वय बनाकर काम कर रही है। टिड्डी दल को रोकने ड्रोन और मशीनों का प्रयोग किया जा रहा है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने रात में भी ड्रोन का प्रयोग करने की अनुमति दी है।

फसलों के नुकसान को रोकना है उद्देश्य

हेलीकॉप्टर के लिए मल्होत्रा हेलीकॉप्टर्स फर्म के साथ करार किया गया है। प्रयास है कि फसलों को नुकसान पहुंचने से रोका जा सके। जहां पर टिड्डी दल का प्रकोप ज्यादा होगा, वहां हेलीकॉप्टर का प्रयोग होगा। तोमर ने कहा कि वायु सेना से 4 हेलीकॉप्टर मिलना तय है, लेकिन मशीनें ब्रिटेन से अगस्त-सितंबर में आएंगी।

250 ली. कीटनाशक लेकर उड़ सकता है हेलीकॉप्टर

ग्रेटर नोएडा से उड़ान भरने वाला हेलीकॉप्टर बेल 206-बी3 एक बार में 250 लीटर कीटनाश लेकर उड़ सकता है। जिसका छिड़काव 25 से 50 हेक्टेयर क्षेत्र में होगा। हेलीकॉप्टर ग्रेटर नोएडा से राजस्थान के बाड़मेर स्थित वायु सेना स्टेशन गया है। जैसलमेर, जोधपुर, बीकानेर, नागौर क्षेत्र में छिड़काव करेगा।