हाईवे जाम, आश्वासन के बाद अंकिता का अंतिम संस्कार

हाईवे जाम, आश्वासन के बाद अंकिता का अंतिम संस्कार

देहरादून। अंकिता की मौत के बाद तीसरे दिन रविवार को भी लोगों में गुस्सा दिखा और उन्होंने सड़कों पर प्रदर्शन किया। साढ़े आठ घंटे हाइवे जाम किया। वहीं दिन में अंकिता के परिजनों ने डीटेल पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बिना अंतिम संस्कार से इंकार कर दिया था, लेकिन प्रशासन के मनाने के बाद वे मान गए। अंकिता का अंतिम संस्कार अलकनंदा के तट पर शाम को किया गया। दिन में हुए प्रदर्शन से बद्रीनाथ-ऋषिकेश हाईवे जाम हो गया था। वहीं, दिन में आई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार अंकिता की मौत पानी में डूबने से हुई। धक्का देने से पहले उसे किसी भारी चीज से पीटा गया था। उसके शरीर पर चोट के निशान भी मिले। रिपोर्ट में सेक्शुअल एब्यूज या रेप का जिक्र नहीं है। अंकिता के परिजन इस रिपोर्ट को नकार रहे हैं। वहीं कांग्रेस, वामपंथी संगठन, और छात्र संगठन भी इस आंदोलन में शामिल हो गए हैं। इधर सोशल मीडिया पर आए अंकिता और उसके दोस्त के चैट में उसने वहां पर आने वाले एक मेहमान और अंकित के बारे में बहुत कुछ बताया है। उसने कई बार लिखा कि अब वह यहां पर काम नहीं करेगी। अंकित उससे बहुत से गलत काम करने को कहता है।

पिता ने रिजॉर्ट को तोड़ने पर सवाल उठाए....अंकिता के परिजनों ने रिजॉर्ट तोड़ने पर सवाल उठाए हैं। उनका कहना है कि सबूत मिटाने के लिए यह कदम उठाया गया था। अंकिता के पिता ने कहा-रिजॉर्ट तोड़कर सबूत भी मिटा दिए गए। वहीं ऋषिकेश के डीएम विवेक जोगदंडे ने कहा कि रिजॉर्ट पर बुलडोज चलाने का आदेश किसने दिया इसकी जांच हो रही है।

प्रशासन परिजनों को मनाने में जुटा रहा

रविवार दोपहर को डीएम और एसएसपी अंकिता के परिजनों से मिलने पहुंचे। बंद कमरे में जिला प्रशासन और परिजनों के बीच बातचीत हुई। प्रशासन अंकिता के परिजनों को अंतिम संस्कार करने के लिए मनाने में जुटा रहा जिसे बाद वे शाम को मान गए। अधिकारियों ने अंकिता के पिता को आश्वासन दिया कि पुलिस इस केस की अच्छे से तμतीश करेगी और फास्ट ट्रैक कोर्ट के जरिए आरोपियों को फांसी के तख्ते तक पहुंचाया जाएगा।

हत्यारों को दिलाएंगे फांसी : डीजीपी

उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने अंकिता भंडारी के पिता को आश्वासन दिया कि उनकी पुत्री के हत्यारों को फांसी की सजा दिलाई जाएगी। कुमार ने वीरेंद्र सिंह भंडारी (पिता) को यह आश्वासन फोन पर दिया। कुमार ने कहा, पीड़ित अंकिता भंडारी के पिता जी से मैंने फोन पर बातकर उन्हें निष्पक्ष जांच और दोषियों को कड़ी सजा दिलाने के लिए आश्वस्त किया है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।