कोरोना के खिलाफ कितनी है इम्यूनिटी, बताएगी किट

कोरोना के खिलाफ कितनी है इम्यूनिटी, बताएगी किट

वाशिंगटन।अमेरिका में शोधकर्ताओं ने एक ऐसा टेस्ट विकसित किया है, जिसकी मदद से आसानी से लोगों में इम्यूनिटी से मिलने वाली सुरक्षा का स्तर पता लगाया जा सकता है। टेस्ट की मदद से पता लगाया जा सकता है कि ये इम्यूनिटी कोविड के खिलाफ कितनी प्रभावी है। शोधकर्ताओं का कहना है कि इस प्रकार के टेस्ट तक आसान पहुंच की मदद से लोगों में ये पता लगाने में मदद मिलेगी कि उन्हें अतिरिक्त बूस्टर शॉटलेने की जरूरत है भी या फिर नहीं। जर्नल सेल रिपोर्ट मेथड्स में प्रकाशित निष्कर्षों में कहा गया है, ये टेस्ट एंटीबॉडी को न्यूट्रालाइज करने के लेवल का पता लगा सकता है। ये एंटीबॉडी वायरस से कोशिकाओं को बचाने का काम करती हैं। एक ब्लड सैंपल में कोरोना को निशाना बनाने वाली एंटीबॉडी का टेस्ट किया गया था।

बहुत से लोग जानना चाहते हैं इम्यूनिटी

अमेरिका के मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) के वैज्ञानिक होजुन ली का कहना है कि कई लोग जानना चाहते हैं कि वो कितना सुरक्षित हैं। ली ने कहा कि लेकिन मुझे लगता है कि ये टेस्ट कीमोथेरेपी ले रहे लोगों के लिए भी फायदेमंद होगा। बुजुर्गों और जिनका इम्यून रिस्पॉन्स अच्छा नहीं है उनके लिए लाभदायक हो सकता है।

टेस्ट को जल्द मिल सकती है मंजूरी

ये टेस्ट इस तरह डिजाइन किया गया है, जो अलग-अलग वायरल स्पाइक प्रोटीन को पकड़ सकता है। स्पाइक प्रोटीन वायरस को शरीर में प्रवेश करने के साथ-साथ कोशिकाओं को संक्रमित बनाने में मदद करता है। शोधकर्ताओं ने तकनीक पर एक पेटेंट फाइल किया है। उम्मीद है कि जल्द ही एक डायगोनिस्टिक कंपनी इस टेस्ट का निर्माण कर सकती है। ये टेस्ट अमेरिका के फूड एंड ड्रम एडमिनस्ट्रेश के पास मंजूरी के लिए भेजा गया है।