दंगल में पंच: आईओए ने गठित की समिति, बृजभूषण ने भेजा जवाब

दंगल में पंच: आईओए ने गठित की समिति, बृजभूषण ने भेजा जवाब

नई दिल्ली। पहलवानों की लिखित शिकायत के बाद भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने आपात बैठक बुलाकर मामले की जांच के लिए सात सदस्यीय समिति का गठन कर दिया है। समिति का चेयरपर्सन ओलिंपियन एमसी मैरीकॉम को बनाया गया है। इस बीच, भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के अध्यक्ष और भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने अपना जवाब खेल मंत्रालय को भेज दिया है। उनके बेटे प्रतीक ने दावा किया है। खेल मंत्रालय ने दो दिन पहले ही 72 घंटे में डब्ल्यूएफआई से जवाब तलब किया था, जिसकी मियाद शनिवार रात पूरी होगी। आईओए को शिकायत मिलने के बाद संयुक्त सचिव कल्याण चौबे की ओर से आपात कार्यकारिणी की बैठक बुलाई गई। अध्यक्ष पीटी उषा की अगुआई में वर्चुअली बैठक हुई जो दो घंटे चली। आईओए ने पहलवानों के आरोपों को गंभीर मानते हुए सात सदस्यीय कमेटी का गठन कर दिया। इस बीच, पहलवानों का धरना तीसरे दिन भी जंतर-मंतर पर जारी रहा।

आत्महत्या करना चाहती थी विनेश

आईओए को लिखे लेटर में पहलवानों ने अपना पूरा दर्द बयां किया। पहलवानों ने आरोप लगाया कि जब टोक्यो ओलिंपिक में विनेश फोगाट मेडल से चूक गई थीं, तब कुश्ती संघ के अध्यक्ष सिंह ने उन्हें मानसिक तौर पर इतना परेशान किया कि विनेश ने आत्महत्या करने का मन बना लिया था।

भंग करने का अधिकार

सूत्रों की माने तो खेल मंत्रालय महासंघ पर डायरेक्ट एक्शन नहीं ले सकता है, लेकिन आईओए फेडरेशन को भंग कर सकता है। पहलवानों ने आईओए अध्यक्ष पीटी ऊषा को शिकायती पत्र भेजा है। इसमें सिंह पर यौन शोषण के आरोप लगाए गए हैं।

... तो जारी रहेगा धरना

विनेश ने जंतर-मंतर पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हमारी मांग पूरी नहीं हुई तो धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। हम यहीं मेट लगाकर अपनी प्रैक्टिस जारी रख सकते हैं। हमने अपनी मांगें खेल मंत्री के सामने रखी थी। कुछ मुद्दे ऐसे थे, जिन पर हम असंतुष्ट हैं।

समिति में सात सदस्य

एथलीट समिति की चेयरपर्सन मैरीकॉम को समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। आईओए कोषाध्यक्ष सहदेव यादव, संयुक्त सचिव अलकनंदा अशोक, तीरंदाज डोला बनर्जी, पहलवान योगेश्वर दत्त के अलावा एक पुरुष और महिला वकील को समिति में रखा गया है।

अयोध्या में होने वाली एजीएम में शामिल होंगे सिंह

सिंह के बेटे प्रतीक ने मीडिया से कहा कि उन्होंने खेल मंत्रालय को अपना जवाब भेज दिया है। बृजभूषण डब्ल्यूएफआई की 22 जनवरी को अयोध्या में होने वाली सालाना बैठक के बाद मीडिया से बात करेंगे। इधर, शाम को बृजभूषण प्रेसवार्ता करने वाले थे, लेकिन पांच बार समय बदलने के बावजूद वे नहीं कर पाए। इससे पहले शुक्रवार को सिंह ने इस्तीफा देने से इंकार कर दिया था। उन्होंने कहा था कि मैं यदि मुंह खोल दूंगा तो सुनामी आ जाएगी।