महंगाई के दौर में आलू-टमाटर समेत सभी सब्जियां हुईं सस्ती

महंगाई के दौर में आलू-टमाटर समेत सभी सब्जियां हुईं सस्ती

ग्वालियर। जहां इन दिनों आटा-चावल, दाल सहित अन्य खाद्य वस्तुओं ने आम आदमी की हालत खस्ता कर रखी है, वहीं दूसरी ओर इस महंगाई की मार के दौर में सब्जियों ने आम आदमी को राहत प्रदान की है। शादियों के सीजन के बीच इन दिनों सब्जियों के दाम थोक के साथ ही खेरिज में भी काफी कम हो गए हैं आलम यह है कि ठेलों पर आलू, टमाटर, प्याज 15 रुपए किलो में बिक रहे हैं, ऐसा हाल केवल इन सब्जियों का ही नहीं बल्कि लगभग हर सब्जी का है।

सब्जियों के दामों में गिरावट की वजह से खपत पर भी असर नजर आ रहा और सब्जियों की खपत इन दिनों बढ़ गई है। वैसे अधिकतर समय सब्जियों के दामों में गर्मी के दिनों में तेजी रहती थी, लेकिन इस बार उलटा हो रहा है। दामों में गिरावट की वजह के बारे में जब लक्ष्मीगंज के थोक कारोबारियों से बात की गई तो उनका एक ही कहना था कि मांग के हिसाब से आवक अधिक हो रही है, जिसकी वजह से दाम बढ नहीं रहे हैं।

लोकल के साथ पांच राज्यों से हो रही आवक

सब्जियों में इन दिनों लोकल की खूब आवक हो रही है सब्जियों की फसलों में किसी प्रकार का रोग नहीं है जिसकी वजह से क्वालिटी भी बेहतर आ रही है। लोकल के साथ ही देश के 7 राज्यों की थोक मंडी से आवक हो रही है। इसमें राजस्थान से लौकी, टमाटर, काशीफल (कद्दू) , पत्तागोभी, इंदौर से बैंगन पत्तागोभी, उत्तर प्रदेश से आलू, पत्तागोभी एवं फूल गोभी एवं महाराष्ट्र एवं सागर से प्याज की जमकर आवक हो रही है।

सब्जी             थोक मंडी भाव                  खेरिज भाव

आलू                 5-6 रु.                            10-15 रु.
लौकी               14-16 रु.                          25-30 रु.
प्याज               7-8 रु.                             15-20 रु.
टमाटर             150-190 क्रेट                    10-12 रु.
पत्तागोभी         5-6 रु.                              10-15 रु.
फूलगोभी          8-10 रु.                            10-15 रु.
नीबू                 60-80 रु.                          80-100 रु.
शिमला मिर्च     20 रु.                                40-50 रु.

इस समय लोकल आवक के साथ ही अन्य प्रदेशों से भी जमकर आवक हो रही है। इसी की वजह से सब्जियों के दाम गिर गए हैं। लोकल की फसल में कोई रोग नहीं होने के कारण क्वालिटी बेहतर है। अधिकतर सब्जियां दस रुपए किलो से कम में बिक रही हैं। -राजेन्द्र गुप्ता,थोक मंडी कारोबारी लक्ष्मीगंज